Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित हाइवा की टक्कर से बिजली का पोल क्षतिग्रस्त, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

लातेहार : बुधवार को बालूमाथ-पांकी पथ पर झाबर गांव स्थित बस स्टैंड के पास कोयला लदे अनियंत्रित हाइवा वाहन ने बिजली के पोल को क्षतिग्रस्त कर दिया। जिससे गांव में लगा ट्रांसफार्मर शार्ट हो गया और तार आदि भी जलकर राख हो गये। हालांकि इस दौरान कई ग्रामीणों ने भागकर अपनी जान बचायी।

Balumath Road Jam News
Balumath Road Jam News

इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने सुबह 6:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक मुख्य सड़क को जाम कर दिया और मांग की कि इस रास्ते से कोयला परिवहन नहीं किया जाये, वाहनों को नियंत्रण के साथ धीमी गति से चलाया जाये, स्कूल समय में नो एंट्री लगाने की मांग की।

ग्रामीणों ने बताया कि पंचायत क्षेत्र के कई विद्यालय मुख्य सड़क के किनारे स्थित हैं तथा कई हाइवा वाहनों की तेज गति के कारण आये दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं, जिससे लोगों की जान-माल का खतरा हमेशा बना रहता है।

इधर, जाम की सूचना पर कोयला ट्रांसपोर्टिंग करने वाली कंपनी के अधिकारी जाम स्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों से बातचीत करते हुए उनकी सभी मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। लेकिन ग्रामीणों ने क्षतिग्रस्त पोल के साथ-साथ बिजली से संबंधित नुकसान का मुआवजा देने की मांग की। जिस पर कंपनी से जुड़े लोगों ने तुरंत इसे गंभीरता से लिया और चार-पांच घंटे के अंदर नये बिजली के खंभे लगवाये और जर्जर तार को बदलवाया, तब जाकर ग्रामीणों द्वारा लगाया गया जाम हटा। इस दौरान बालूमाथ थाने की पुलिस भी पहुंची और ग्रामीणों को शांत कराया और जाम हटाया।

मालूम हो कि बालूमाथ थाना क्षेत्र में कोयला परिवहन में लगे हाइवा वाहनों से सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बढ़ गयी है। हाल के दिनों में बालूमाथ पांकी रोड पर दो लोगों की जान जा चुकी है, जबकि पिछले सप्ताह झाबर गांव में दो हाइवा वाहनों के बीच टक्कर हो गयी थी जिसमें एक यात्री गंभीर रूप से घायल हो गया और सड़क किनारे रहने वाले लोग बाल-बाल बच गये थे। इस मार्ग पर चलने वाले राहगीरों का मानना है कि वे जान जोखिम में डालकर यात्रा कर रहे हैं। यदि यही स्थिति रही तो कभी भी किसी बड़ी घटना से इनकार नहीं किया जा सकता।

Balumath Road Jam News