Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

धनबाद जेल में गैंगस्टर अमन सिंह की हत्या के मामले में जेलर निलंबित, दो पिस्तौल बरामद

धनबाद : अमन सिंह हत्याकांड की जांच करने धनबाद पहुंचे जेल आईजी उमा शंकर सिंह ने सोमवार को सर्किट हाउस में मीडियाकर्मियों से बात की। उन्होंने बताया कि रविवार को मंडल कारा धनबाद में जेल के अंदर गोलीबारी की घटना में कैदी अमन सिंह की अस्पताल वार्ड में गोली लगने से मौत हो गयी। गोली चलाने वाले की पहचान सुंदर महतो के रूप में हुई है।

घटना के तुरंत बाद जिले के उपायुक्त, वरीय पुलिस अधीक्षक, धनबाद जिला प्रशासन के अन्य वरीय अधिकारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को तुरंत नियंत्रण में लिया और घायल कैदी अमन सिंह को बेहतरी के लिए एसएनएमएमसीएच भेजा। जहां इलाज के दौरान डॉक्टर ने कैदी अमन सिंह को मृत घोषित कर दिया।

उन्होंने कहा कि घटना के बाद जिला प्रशासन और जेल प्रशासन ने अलग-अलग टीम बनाकर सभी वार्डों, सेल और पूरे परिसर की सघन तलाशी ली। तलाशी के दौरान छह मोबाइल फोन और 18 हजार रुपये बरामद हुए। उन्होंने बताया कि मौके पर स्थिति को संभालते हुए जिला एवं जेल प्रशासन ने कैदियों के बीच आपसी संघर्ष एवं गैंगवार की आशंका को देखते हुए तत्काल विभिन्न गुटों के कैदियों को अलग-अलग कोठरियों में बंद कर दिया गया।

इस मामले में जिला प्रशासन ने एडीएम लॉ एंड ऑर्डर, अपर समाहर्ता और सिटी एसपी की त्रिस्तरीय कमेटी बनाकर पूरी घटना और सुरक्षा चूक की जांच करने का निर्देश दिया है। राज्य स्तर पर कारा निरीक्षणालय द्वारा सहायक कारा महानिरीक्षक-1, सहायक कारा महानिरीक्षक-2 एवं विशेष कार्य पदाधिकारी, कारा निरीक्षणालय की त्रिस्तरीय समिति गठित कर जांच हेतु निर्देशित किया गया है। जिला प्रशासन ने मंडल कारा में सीसीटीवी फुटेज की जांच और कोठरियों में सघन छापेमारी के लिए 24×7 तीन टीमों का गठन कर उन्हें प्रतिनियुक्त किया है।

उन्होंने बताया कि सीसीटीवी फुटेज की जांच के दौरान उक्त घटना में प्रयुक्त हथियार का पता लगाते हुए जेल परिसर से दो पिस्तौल बरामद किये गये। उक्त घटना में चार प्राथमिकी दर्ज की गयी है। साथ ही घटना स्थल को बैरिकेडिंग कर अस्पताल वार्ड को सेनिटाइज किया गया है।

जेल प्रशासन ने उस अधिकारी की पहचान कर ली है जिसकी लापरवाही के कारण उक्त घटना हुई। इसे गंभीर गलती मानते हुए उक्त घटना में लापरवाही बरतने वाले दो चैंबरलेन (पूर्व सैनिक) की संविदा रद्द कर दी गयी है। पांच कक्षपालों को निलंबित करते हुए उनका मुख्यालय केंद्रीय कारा हजारीबाग निर्धारित करते हुए विभागीय कार्रवाई के तहत रखा गया है। मंडल कारा धनबाद में कक्ष रक्षकों की कमी को देखते हुए अन्य जेलों से सात कक्ष रक्षकों को मंडल कारा धनबाद में पदस्थापित किया गया है।

इसके साथ ही जेलर, मंडल कारा, धनबाद- मो. मुसत्कीम अंसारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित एवं स्थानांतरित करते हुए विभागीय कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। मंडल कारा, चतरा के जेलर को तत्काल प्रभाव से मंडल कारा, धनबाद के जेलर के पद पर पदस्थापित किया गया है।

घटनाक्रम को देखते हुए जेल अधीक्षक, मंडल कारा धनबाद एवं उपायुक्त की अनुशंसा के आलोक में कुल 23 कैदियों को राज्य के अन्य जेलों में स्थानांतरित करने का निर्देश दिया गया है। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए जिला प्रशासन के वरीय पदाधिकारी-डीसीएलआर, जिला पुलिस के वरीय पुलिस पदाधिकारी-डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर को प्रतिदिन निगरानी एवं गतिविधियों पर नजर रखने के लिए प्रतिनियुक्त किया गया है।

धनबाद जिला पुलिस ने अदालत से आरोपी सुंदर महतो की रिमांड की मांग की थी, जिसके आलोक में अदालत ने पांच दिनों की रिमांड दी है। रिमांड के दौरान पूछताछ में विस्तृत पूछताछ के बाद परिस्थितियां और स्पष्ट हो जायेंगी।