Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Saturday, June 15, 2024
चंदवापलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार : भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव समर्थकों के साथ गिरफ्तार

लातेहार उपायुक्त के सामने शांतिपूर्वक धरने में भाग लेने जा रहे भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव और उनके समर्थकों को लातेहार पुलिस ने चंदवा से गिरफ्तार किया है। प्रतुल शाहदेव को हिरासत में लेकर आईबी चंदवा में रखा गया है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बता दें कि चंदवा के अनिल गंझू की दो बेटियों की 15 दिन पहले फूड प्वाइजनिंग से मौत हो गई थी। उसी वक़्त मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने ₹50,000 के मुआवजे की घोषणा की थी, लेकिन 15 दिन बाद भी मुआवजा नहीं मिला। इसी वादे के खिलाफ आज प्रतुल शाहदेव अपने समर्थकों के साथ डीसी लातेहार के कार्यालय के सामने धरने पर बैठने वाले थे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पंद्रह दिनों पूर्व चंदवा (लातेहार) से सटे परसाही गांव निवासी अनिल गंझू की दूसरी बेटी आराध्या कुमारी की भी फूड प्वाइजनिंग से मौत हो गई थी। इससे तीन दिन पहले अनिल गंझू की एक बेटी मिस्टी कुमारी (दो साल) की भी रिंग्स, कुरकुरे और महाराजा मिक्सचर खाने से मौत हो गई थी।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार: चंदवा में रिंग्स खाने से 4 बच्चियां बीमार, एक की इलाज के दौरान मौत, तीन की हालत नाजुक

आराध्या की मौत के दिन मेदिनीनगर से लौट रहे श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता परसाही गांव पहुंचे और पीड़ित परिवार को 50 हजार रुपये देने की बात कही थी। साथ ही खाने के पैकेट से हुई मौत के मामले की जांच करने को कहा। इसके अलावा दोषियों के खिलाफ हर संभव कार्रवाई का आश्वासन दिया। जो कि अब तक नहीं हुआ है। अब इस मामले पर बवाल शुरू हो गया है।

इसे भी पढ़ें :- पैकेट बंद रिंग्स खाने से बीमार एक और बच्ची की रिम्स में इलाज के दौरान मौत

लातेहार: भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव गिरफ्तार