Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

सुरक्षाबलों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़, जंगल का लाभ उठाकर भागे नक्सली, सर्च ऑपरेशन जारी

बोकारो : जिले के बेरमो अनुमंडल के अति उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र गोमिया प्रखंड के चतरोचट्टी थाना क्षेत्र के चुट्टे पंचायत के गिंधौनीय जंगल के चैयताड़ और दंडरा के बीच मंगलवार सुबह नक्सलियों और पुलिस सीआरपीएफ और जगुआर के बीच जमकर मुठभेड़ हुई। हालांकि, मुठभेड़ के बाद नक्सली घने जंगल का फायदा उठा कर भाग खड़े हुए लेकिन नक्सलियों और पुलिस के बीच हुई मुठभेड़ के बाद पुलिस पूरे इलाके में गहन सर्च अभियान चला रही है।

यह मुठभेड़ एरिया कमांडर कुंवर मांझी और जोनल कमांडर बिरसेन उर्फ काना उर्फ चंचल दा के दस्ते और पुलिस बलों के बीच हुई। जंगल के रास्ते में 12 से 14 हथियारबंद नक्सली थे। इस संबंध में बोकारो एसपी प्रियदर्शी आलोक ने बताया कि जोनल कमांडर बिरसेन के दस्ते के जंगल में होने की सूचना मिली थी। इस सर्च अभियान में सीआरपीएफ, जिला पुलिस एवं झारखंड जगुआर की टीम शामिल थी। इसी दौरान सुबह आमना-सामना हुआ और दोनों के बीच मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ के बाद पूरी फोर्स का सर्च अभियान जारी है। उन्होंने कहा कि कितने राउंड गोली चली है, क्या बरामद हुआ है अभी तक पता नहीं चल पाया है। क्योंकि, पूरी टीम सर्च अभियान में लगी हुई है।

उन्होंने कहा कि बोकारो जिले से नक्सलियों के पांव पूरी तरह से उखड़ चुके हैं। जिले में नक्सलियों की पकड़ कमजोर हो गयी है। हताशा में नक्सली अब इस तरह की घटना को अंजाम दे रहे हैं। नक्सली अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिये पुलिस के साथ मुठभेड़ कर रहे हैं।

Bokaro Encounter News Today