Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

रांची में डायन बिसाही के शक में देवरानी ने की जेठानी की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

'

रांची : नामकुम थाना क्षेत्र के सरवल जामुन टोली में शनिवार सुबह पांच बजे डायन-बिसाही के शक में देवरानी ने लोहे की रॉड से मार चचेरी जेठानी की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी देवरानी बसो देवी को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि मृतक घर के पास हैंडपंप पर बर्तन धो रही थी। इस दौरान आरोपी ने सिर पर लोहे की रॉड से कई वार किए, जिससे महिला का सिर क्षत-विक्षत हो गया और मौके पर ही उसकी मौत हो गयी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

हत्या की सूचना मिलते ही पंचायत के मुखिया नाने कच्छप मौके पर पहुंचे और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त लोहे के रॉड को बरामद कर लिया है। गिरफ्तार महिला बसो देवी का आरोप है कि मृतका जादू टोना करती थी, जिससे पिछले कुछ वर्षों में उसके परिवार के कई सदस्यों की मौत हो गई। बेटा देवेंद्र एक महीने से बीमार है। बेटे की मानसिक स्थिति खराब हो गई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

गिरफ्तार महिला ने बताया कि शुक्रवार की रात देवेंद्र बिना किसी को बताए घर से निकल गया। बसो को लगा कि मृतका ने उसके बेटे जादू-टोना किया है, जिसके तनाव में वह पूरी रात सो नहीं पाई। शनिवार की सुबह बसो ने गुस्से में आकर हैंडपंप पर बर्तन धो रही मृतका की हत्या कर दी। कुछ देर बाद देवेंद्र भी घर पहुंच गया। डायन बिसाही के आरोप को लेकर पांच साल पहले भी विवाद हुआ था, लेकिन पंचायत व प्रशासन ने मामले को शांत कराया था। दोनों पक्षों के बीच लिखित समझौता हुआ था।