Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: आपसी विवाद के चलते पति-पत्नी ने दो माह के बच्चे के साथ की खुदकुशी

पलामू : जिले के नौडीहा बाजार थाना क्षेत्र के नामुदाग गांव में एक दंपत्ति ने पारिवारिक विवाद के कारण अपने नवजात बच्चे के साथ आत्महत्या कर ली। पत्नी और बच्चे की मौत घर पर ही हो गयी, जबकि पति की मौत इलाज के दौरान एमआरएमसीएच में गुरुवार की शाम हो गयी। तीनों शवों को पोस्टमार्टम के बाद उनके परिजनों को सौंप दिया गया है। मृतकों में योगेन्द्र भुइयां (25), सविता देवी (20) और उसका डेढ़ माह का बच्चा इशु शामिल हैं।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जा रहा है कि पति-पत्नी के बीच कपड़े खरीदने को लेकर विवाद हुआ था। नामुदाग की पंचायत समिति सदस्य अनरवा देवी एवं योगेन्द्र भुईया के पिता सहदेव भुईया ने बताया कि योगेन्द्र पिछले चार-पांच माह से नामुदाग स्थित अपने ससुराल में रह रहा था। उसकी पत्नी ने दो माह पहले बच्चे को जन्म दिया था। गुरुवार की सुबह खबर मिली कि योगेन्द्र भुइयां की पत्नी और उसके बच्चे की मौत हो गयी है। योगेन्द्र भुईया को एमआरएमसीएच लाया गया था। इलाज के दौरान योगेन्द्र की भी मौत हो गयी।

बताया कि रात में खाना खाकर सभी लोग सो गये थे, लेकिन सुबह जब काफी देर तक दरवाजा नहीं खुला तो लोग उसे जगाने गये। बार-बार आवाज देने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो लोग दरवाजा तोड़कर अंदर गये तो देखा कि सविता देवी और उसका बच्चा मृत पड़े थे, जबकि योगेन्द्र भुइयां की हालत काफी खराब थी। योगेन्द्र भुइयां को पहले छतरपुर अस्पताल लाया गया, लेकिन उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया।

Palamu Crime News Today