Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

लातेहार: मुठभेड़ में मारे गए तीनों TSPC उग्रवादियों की हुई पहचान, पुलिस ने परिजनों को सौंपा शव

'

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के कहुआखाड़ जंगल में शनिवार को पुलिस और नक्सली संगठन टीएसपीसी के बीच मुठभेड़ में मारे गए तीन उग्रवादियों का रविवार को सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम किया गया। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद तीन में से दो उग्रवादियों जितेंद्र यादव (चतरा) और करमदेव सिंह (मनिका) के शव उनके परिजनों को सौंप दिए। वहीं, तीसरे उग्रवादी की शिनाख्त लोहरदगा निवासी राजेश उरांव के रूप में हुई।

सदर अस्पताल में मजिस्ट्रेट प्रीति सिन्हा की मौजूदगी में डॉक्टरों की तीन सदस्यीय टीम ने तीनों शवों का पोस्टमार्टम किया। पुलिस ने मृतक के पास से एक मोबाइल फोन बरामद किया है। पुलिस इसी मोबाइल से उसकी शिनाख्त करने की कोशिश कर रही है।

सब जोनल कमांडर जितेंद्र यादव और एरिया कमांडर करमदेव सिंह के परिजन सुबह सदर अस्पताल पहुंच गए थे। अस्पताल के मुख्य द्वार पर जितेंद्र यादव की पत्नी रीता देवी और सास पतिया देवी रोती नजर आईं। इस दौरान मारे गए उग्रवादियों के परिजनों ने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

घटना के दूसरे दिन मारे गए तीनों उग्रवादियों के शवों को सदर अस्पताल लाया गया। शनिवार की रात भी उग्रवादियों की लाश जंगल में ही पड़ी थी। इस दौरान पुलिस पूरे इलाके में तलाशी अभियान चला रही थी। रविवार की सुबह रांची से फोरेंसिक टीम मौके पर पहुंची और शवों का निरीक्षण कर आसपास के सैंपल लिए। इसके बाद घटनास्थल से शवों को उठाया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published.