Breaking :
||ब्रेकिंग : विशाल चौधरी के ठिकाने पर भारी मात्रा में नकदी बरामद, नोट गिनने की मशीन मंगवाई गई||झारखंडः देवी देवता के खिलाफ अभद्र टिप्पणी पर चक्रधरपुर बंद, 3 आरोपी गिरफ्तार||IPL 2022 – प्लेऑफ़ का पहला मुक़ाबला आज, इस सीजन में हुई छक्कों की बारिश, बना रिकॉर्ड||Breaking : अब रांची के अशोक नगर में ईडी की छापेमारी||BREAKING: लातेहार निर्वाची पदाधिकारी से हटाए गए एसडीओ शेखर कुमार, राज्य चुनाव आयोग ने दी सहमति||लातेहार : बहू की विदाई करा कर लौट रहे थे ग्रामीण, ट्रैक्टर की टक्कर से दो की गई जान||गढ़वा: तेज आंधी से गिरा पेड़, मछली मारने गए तीन लोगों की दबकर मौत||बारिश से मौसम हुआ सुहाना, 24 मई को फिर से भारी बारिश की चेतावनी||राबड़ी देवी ने प्रदर्शन कर रहे राजद कार्यकर्ता को मारा थप्पड़, देखें वीडियो||पेट्रोल, डीजल हुआ सस्ता, केंद्र सरकार ने घटाई एक्साइज ड्यूटी, घरेलू गैस सिलिंडर पर भी सब्सिडी

जेल में जमीन पर सोने से नींद नहीं आ रही पूजा सिंघल को, जमादार को फटकार लगाकर कहा – ‘ मुझे जेल का खाना नहीं चाहिए…’

जेल में जमीन पर चादर बिछाकर पड़ी पूजा सिंघल, पूरी रात मच्छरों से रही परेशान। दुःख में बीत रही जेल में रात । सुबह नहाने को नहीं मिला। चना-गुड़ चूड़ा-मुरही गले से नीचे नहीं उतरा रहा । जेल जमादार ने साफ-सफाई नहीं रखी तो फटकार लगाई।

रांची : भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप में निलंबित झारखंड की आईएएस पूजा सिंघल की रात जेल में ही बीती । रात दुखभरी थी। उसने जेल के महिला वार्ड की जमीन पर चादर ओढ़कर रात बिताई। रात भर मच्छरों ने उन्हें परेशान किया। खाने को देखते ही मना कर दिया। जेल कर्मियों से कहा, यह खाना ले जाओ, ईडी ही मेरे लिए नाश्ता बनाएगा। फिर वह चुप रही।

जो भी पूजा सिंघल से बात करने जा रहा था वह उसे फटकार लगा रही थी । इस बीच ईडी की टीम उसे रिमांड पर लेने के लिए सुबह दस बजे होटवार जेल पहुंची। इस दौरान उन्होंने ना तो ब्रश किया न ही नहाया । बिना फ्रेश हुए ही निकलना पड़ा। दूसरे दिन वह उसी हालत में जेल से बाहर आईं, जिसमें उन्हें ईडी ने जेल भेज दिया था। उसने एक रात पहले ब्लड प्रेशर की दवा भी ली थी।

इसे भी पढ़ें :- पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद पवार का विवादित बयान, कहा – तुम साले *** हमें मंदिरों में प्रवेश भी नहीं करने देते

जमादार को लगाई फटकार, पूछा सफाई पर ध्यान क्यों नहीं?

जेल के अंदर भी पूजा का आईएएस का दर्जा दिखाया। सुबह जमादार उनके पास पहुंचे तो उन्होंने उसे फटकार लगाई। कहा – तुम क्या व्यवस्था करते हो? तुम्हे समझ नहीं आ रहा है कि जेल को कैसे रखना है । सफाई का भी ध्यान नहीं है। मैं इस गन्दगी में कैसे रहूंगी ? जमादार ने कहा, मैडम, सब ठीक हो जाएग। इस पर पूजा ने धमकी दी, कहा कि सफाई नहीं होगी तो ठीक नहीं होगा। मैडम को उग्र देखकर जमादार और अन्य सुरक्षाकर्मी और जेल कर्मी ने चुप रहना ही बेहतर समझा।

इसे भी पढ़ें :- कार में जबरन बैठा कर नाबालिग से दुष्कर्म, पांच आरोपी गिरफ्तार

चार महिलाओं के साथ रह रहीं पूजा सिंघल

पूजा सिंघल चार महिलाओं के साथ जेल में रहीं। उनके वार्ड में सिमडेगा जिले और अन्य जगहों की महिला कैदी थीं। उन्होंने आईएएस पूजा से बात करने की कोशिश की, लेकिन उन्होंने किसी से बात नहीं की। चादर पर सोने के कारण उन्हें नींद नहीं आ रही थी, रात भर करवट बदलती रही। सुबह उठकर इधर-उधर टहलती रही।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

क्यों हुई यह स्थिति

पूजा सिंघल बुधवार रात करीब 10 बजे जेल पहुंची। घरवालों ने उन्हें चादर या कंबल नहीं दिया। महिला वार्ड में अपर डिवीजन सेल नहीं है।सिर्फ जनरल वार्ड हैं। जनरल वार्ड में बेड उपलब्ध नहीं हैं। जमीन पर ही करीब 10 इंच ऊंचाई का बिस्तर जैसा चबूतरा बना हुआ है। आम कैदियों की तरह पूजा सिंघल के लिए भी व्यवस्था की गई थी।