Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
झारखंड

रामनवमी व सरहुल के जुलूस को सीएम ने दी हरी झंडी, जल्द जारी होगा SOP

रांची: कोविड-19 के चलते दो साल तक सरहुल और रामनवमी का जुलूस नहीं निकल सका। लेकिन इस बार राज्य सरकार द्वारा जुलूस निकालने की तैयारी की जा रही है। इस संबंध में जल्द ही एसओपी जारी किया जा सकता है।

असल में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने मुख्य सचिव सुखदेव सिंह को जरूरी दिशा-निर्देश दिए हैं। अब मुख्य सचिव जल्द ही इस पर एसओपी जारी करेंगे। जुलूस की अनुमति राज्य सरकार देगी। लेकिन इसके साथ ही कोविड को देखते हुए दिशा-निर्देशों के कुछ प्रतिबंध भी लगाए जाएंगे। जिसके तहत गाइडलाइन के तहत मास्क पहनना जरूरी होगा और भीड़ जमा होने की इजाजत होगी। दी गई जानकारी के अनुसार मुख्य सचिव जल्द ही जुलूस के लिए एसओपी जारी करेंगे।

4 अप्रैल को सरहुल और 10 अप्रैल को रामनवमी। दोनों त्योहारों में जुलूस निकालने का रिवाज है। रामनवमी से जुड़े कई संगठन और सरहुल से जुड़ी केंद्रीय सरना समिति समेत विभिन्न आदिवासी संगठनों ने जुलूस की अनुमति देने के अनुरोध को लेकर सीएम से मुलाकात की थी। सीएम ने उन्हें कुछ छूट देने का आश्वासन दिया था।

वर्ष 2020 में कोरोना की वजह से लॉकडाउन था और 2021 में दूसरी लहर के चलते सरकार ने इजाजत नहीं दी थी. लेकिन इस बार कोरोना के मामले बहुत कम हैं. राज्य भर में कोरोना के केवल 64 सक्रिय मामले हैं।

बता दें कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने भी राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लगाए गए प्रतिबंधों को हटा दिया है। गृह मंत्रालय और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी राज्य सरकार को पत्र लिखकर कहा है कि जहां पॉजिटिविटी रेट 10 फीसदी से कम है, वहां वे राज्य के हालात के हिसाब से पाबंदियों में छूट दे सकते हैं।