Breaking :
||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत||जेठानी ने देवरानी पर लगाये गंभीर आरोप, कहा- कल्पना सोरेन के इशारे पर मेरी दोनों बेटियों को मारने की थी कोशिश||गढ़वा: JJMP जोनल कमांडर के नाम पर पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी को धमकी||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में फिर मारे गये सात नक्सली||ED की रिमांड अवधि के दौरान मंत्री आलमगीर आलम का बीपी और शुगर लेवल हाई, स्ट्रेस भी बढ़ा||पलामू: पत्नी के सामने फंदे से झूल गया पति, लगातार झगड़ों से था परेशान||ED ने अब झारखंड सरकार के दो और मंत्रियों को पूछताछ के लिए बुलाया, सियासी गलियारों में हलचल||पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया माओवादी एरिया कमांडर बुधराम मुंडा||लोहरदगा में निर्माणाधीन कुआं धंसने से चार मजदूरों की दबकर मौत||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहारहेरहंज

लातेहार: हेरहंज में बेल्ट के सहारे लटके मिले शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझायी, महिला समेत पांच गिरफ्तार

नितीश कुमार यादव/हेरहंज

लातेहार : हेरहंज थाना क्षेत्र के मेराल गांव स्थित मध्य विद्यालय के पास रामबिलास गंझू के घर से पांच सितंबर को बेल्ट के सहारे लटकते मिले शव की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल एक महिला समेत पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

प्रेस वार्ता में जानकारी देते हुए पुलिस निरीक्षक शशिरंजन कुमार ने बताया कि 5 सितंबर को मेराल गांव के मध्य विद्यालय के समीप रामबिलास गंझू के घर से बेल्ट के सहारे लटका हुआ एक अज्ञात युवक का शव पुलिस ने बरामद किया था। उसकी पहचान गुंजर गंझू पिता सुधु गंझू ग्राम मुरगांव थाना बालूमाथ के रूप में की गयी। जिसके बाद मृतक के पिता के लिखित आवेदन के आधार पर हेरहंज थाना कांड संख्या 42/2023 दिनांक 05/09/2023 धारा 302,201 भादवि के तहत साक्ष्य छुपाने की नियत से हत्या कर फांसी पर लटकाने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

घटना की जांच के दौरान यह बात सामने आयी कि घटना के दिन मेराल निवासी मंजू देवी को मृतक की मोटरसाइकिल की चपेट में आने से मामूली चोट आयी थी। जिसके बाद घायल मंजू देवी, पति फूलदेव लोहरा, पुत्र बिनोद लोहरा उर्फ गूंगा और मंजू देवी के भतीजे राजू लोहरा और मंगरू लोहरा लगातार मृतक के साथ मारपीट कर रहे थे और पैसे की मांग कर रहे थे। मृतक की मोटरसाइकिल और मोबाइल भी मंजू देवी ने छीन लिया था। उसी दिन रात्रि लगभग 11 बजे जब उक्त सभी व्यक्तियों द्वारा मृतक की पिटायी की जा रही थी। इसी क्रम में उनकी मौत हो गयी थी। इसके बाद साक्ष्य छुपाने की नियत से शव को रामबिलास गंझू के घर की छत पर मृतक के बेल्ट के सहारे ही लटका दिया।

मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन के निर्देशानुसार पुलिस निरीक्षक शशिरंजन कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया। जिसमें गठित टीम ने छापेमारी की और आरोपियों के पास से पुलिस ने मृतक की मोटरसाइकिल जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर जेएच 19 ए-0276 और एंड्रॉइड मोबाइल भी बरामद कर लिया। शव को छत पर चढ़ाने में प्रयुक्त नायलॉन की रस्सी, भगवा रंग का तौलिया, मृतक के काले जूते और काली टी-शर्ट बरामद कर ली गयी।

इस छापेमारी टीम में पुलिस इंस्पेक्टर शशि रंजन कुमार, थाना प्रभारी शुभम कुमार, सब इंस्पेक्टर विश्वजीत कुमार तिवारी, सूबेदार सिंह, एएसआई सुबोध कुमार सिंह, सुरेश कुमार सिंह व सशस्त्र बल शामिल थे।

Latehar herhanj News Today