Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Sunday, April 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरगढ़वापलामू प्रमंडल

31 जनवरी तक ही आदमखोर तेंदुए को मारने का आदेश, अब मध्य प्रदेश से आयेगी एक्सपर्ट की टीम

आदमखोर तेंदुआ

आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिए वन विभाग ने संजय-डुबरी टाइगर रिजर्व से मांगी मदद

रांची : गढ़वा जिले में आदमखोर तेंदुए को मारने का अधिकारिक आदेश मिला है लेकिन इसकी वैधता 31 जनवरी तक ही है। समय बीतता देख वन विभाग ने मध्य प्रदेश के संजय-डुबरी टाइगर रिजर्व से आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिए मदद मांगी है।

आदमखोर तेंदुआ के पंजों के निशान

नवाब शफत अली खान की टीम 3 जनवरी से कर रही कोशिश

पलामू वन परिक्षेत्र के क्षेत्रीय मुख्य वन संरक्षक कुमार आशुतोष ने बताया कि यदि तेंदुआ 31 जनवरी तक पकड़ा या मारा नहीं जाता है तो उसे एक बार फिर से मारने के लिए पीसीएफ वाइल्ड लाइफ से अनुमति मांगी जायेगी। फिलहाल विभाग ने संजय टाइगर रिजर्व से विशेषज्ञों की टीम बुलायी है। उन्होंने बताया कि नवाब शफत अली खान की टीम तीन जनवरी से तेंदुए को पकड़ने के लिए डेरा डाले हुए है।

आदमखोर तेंदुआ को ट्रैप करने के लिए लगाये गये ट्रैकिंग कैमरे

अब चार किलोमीटर के दायरे में घूम रहा तेंदुआ

वन विभाग के अधिकारी के मुताबिक रमकंडा और भंडरिया की सीमा पर कुशवार के इलाके में लगातार तेंदुए की लोकेशन मिल रही है। जनवरी के पहले सप्ताह तक गढ़वा के रंका, रमकंडा और भंडरिया के सीमावर्ती इलाकों के 10 किलोमीटर के दायरे में तेंदुआ घूम रहा था। अब इसका दायरा घटकर चार किलोमीटर रह गया है।

आदमखोर तेंदुआ को पकड़ने के लिये लगाया गया केज

ट्रैकिंग कैमरे में अब तक कैद नहीं हो सकी तस्वीर

तेंदुए को पकड़ने के लिए 50 ट्रैकिंग कैमरे लगाये गये हैं। फिर भी अभी तक उसमें उसकी तस्वीर नहीं कैद हो पायी है। छह पिंजरे भी लगाये गये लेकिन अब तक वह फंसा नहीं है। हालांकि, उसके पंजों के निशान केज के बगल में पाये गये।

अब तक चार की ले चुका है जान

गौरतलब है कि आदमखोर तेंदुआ पिछले 37 दिनों से गढ़वा दक्षिणी मंडल के भंडरिया, रंका, रमकंडा प्रखंड और पलामू टाइगर रिजर्व के छीपादोहर में सक्रिय है। तेंदुए ने अब तक चार बच्चों को मार डाला है। इसमें गढ़वा में तीन और लातेहार में एक बच्चे की मौत हुई है। सभी की उम्र छह से 12 साल के बीच थी।

आदमखोर तेंदुआ