Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Monday, February 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

जमीन घोटाला मामले में ED हेमंत सोरेन और हल्का कर्मचारी भानू से फेस टू फेस करेगी पूछताछ

रांची : जमीन घोटाला मामले में रिमांड पर लिए गये पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और बड़गाईं के राजस्व निरीक्षक (हल्का कर्मचारी) भानु प्रताप प्रसाद से प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) आमने-सामने बैठाकर पूछताछ करेगी। शनिवार को पूर्व मुख्यमंत्री से जुड़े एक जमीन मामले में भानु प्रताप प्रसाद को पीएमएलए की धारा 19 के तहत गिरफ्तार किया गया था। ईडी के अनुरोध पर जारी प्रोडक्शन वारंट पर भानु को पेश किया गया। जहां ईडी ने रिमांड की मांग की। हालांकि, रिमांड पर सुनवाई सोमवार को होगी। हेमंत पर 8.5 एकड़ जमीन अवैध तरीके से हड़पने का आरोप है।

इससे पहले ईडी ने सेना के इस्तेमाल वाली 4.55 एकड़ जमीन की अवैध खरीद-बिक्री के मामले में भानु प्रताप प्रसाद को गिरफ्तार किया था और उनके ठिकाने पर छापेमारी की थी, जहां से भारी मात्रा में सरकारी दस्तावेज मिले थे।

ईडी ने जालसाजी और सरकारी दस्तावेजों के दुरुपयोग के मामले में भानु प्रताप के खिलाफ भारतीय दंड कानून से संबंधित धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की थी, जिसके बाद ही 1 जून, 2023 को सदर पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गयी थी। अब भानु की इस दूसरे केस में भी गिरफ्तारी हो गयी है। पिछले साल 9 फरवरी को की गई छापेमारी में ईडी ने भानु प्रताप प्रसाद के पास से जमीन के कई रिकॉर्ड बरामद किये थे। 13 अप्रैल को ईडी की तलाशी के दौरान उसके पास से जमीन से जुड़े 11 ट्रंक दस्तावेज बरामद हुए थे। साथ ही 17 मूल रजिस्टर भी जब्त कर लिये गये। भानु और जमीन कब्जाने वाले सिंडिकेट के छह अन्य सदस्यों को अवैध गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में 14 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था।

Ranchi land scam case