Breaking :
||झारखंड में धूमधाम से मनाया गया प्रकृति का पर्व सरहुल, निकाली गयी भव्य शोभायात्रा||झारखंड: सुरक्षाबलों के दबिश का परिणाम, दो महिला नक्सली समेत 15 माओवादियों ने एक साथ किया सरेंडर||पलामू: प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या, शव फंदे से लटकाया!||चतरा: TSPC के उग्रवादियों ने बालू माफियाओं को अवैध खनन बंद करने की दी चेतावनी||पलामू में दो मादक पदार्थ तस्करों को 10-10 साल सश्रम कारावास की सजा, एक-एक लाख रुपये का जुर्माना||पलामू में अवैध शराब की खेप के साथ तस्कर गिरफ्तार, बिहार में खपाने की थी तैयारी, कार जब्त||शहरी जलापूर्ति योजना से 20 करोड़ रुपये गबन करने का आरोपी PHED कर्मचारी गिरफ्तार||लातेहार: आगामी त्योहारों के दौरान बिजली संबंधी समस्याओं एवं आपात स्थिति से निपटने के लिए मोबाइल नंबर जारी||सांप्रदायिक सौहार्द्र में खलल डालने वाले तत्वों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई, DJ संचालकों से भरवाये जायेंगे बांड||झामुमो ने राजमहल और सिंहभूम लोकसभा सीट से उतारे उम्मीदवार
Friday, April 12, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

सीएम ने दिवंगत रूपेश पांडेय की मां को सौंपा नियुक्ति पत्र व 5 लाख रुपये का चेक

Rupesh Pandey

रांची : सीएम हेमंत सोरेन ने दिवंगत रूपेश पांडेय के परिजनों से अपने आवासीय कार्यालय में मुलाकात की। मौके पर सीएम ने रूपेश पांडे की मां उर्मिला देवी को नियुक्ति पत्र और पांच लाख रुपये का चेक भी सौंपा।

बता दें कि हजारीबाग जिले के बरही थाना क्षेत्र के नईटांड़ निवासी 17 वर्षीय रूपेश पांडे की सरस्वती पूजा विसर्जन के दौरान हत्या कर दी गयी थी। इस दौरान भीड़ ने रूपेश पांडे समेत कुल 3 लोगों की पिटाई कर दी थी, जिसमें रूपेश की जान चली गयी थी।

सीएम ने अपने आवासीय कार्यालय में उनके परिवार के सदस्यों से मुलाकात की। मामले में 27 नामजद समेत कुल 100 लोगों को आरोपी बनाया गया था। कई आरोपितों को गिरफ्तार भी किया गया है।

मामले ने राज्य में सांप्रदायिक रंग भी ले लिया था क्योंकि आरोपी एक विशेष समुदाय से थे। इस हत्याकांड को लेकर राज्य में विरोध भी हुआ था। हालांकि मामले की जांच की जा रही है।

घटना के बाद हजारीबाग, कोडरमा, गिरिडीह, चतरा सहित कुल पांच जिलों में अफवाहों को रोकने के लिए इंटरनेट सेवा बाधित कर दी गयी थी। ताकि किसी भी तरह का सांप्रदायिक तनाव न हो। इस घटना की राष्ट्रीय स्तर पर भी चर्चा हुई थी।

मालूम हो कि सीएम ने मामले में परिवार को निष्पक्ष और त्वरित न्याय का आश्वासन दिया है। जांच के लिए एसआईटी का गठन भी किया गया था।

Rupesh Pandey