Breaking :
||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 28 फरवरी को आयेंगी रांची, सुरक्षा के रहेंगे कड़े इंतजाम||झारखंड: अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर युवती से किया दुष्कर्म, धर्म परिवर्तन कराकर जबरन करा दी शादी||लातेहार: बालूमाथ में लोडेड देशी पिस्टल के साथ दो युवक गिरफ्तार, कार जब्त||पीएम मोदी ने समुद्र में लगायी डुबकी, जलमग्न कृष्ण की नगरी द्वारका को देखा||लातेहार: बारियातू में ऑटो चालक की गोली मारकर हत्या, विरोध में सड़क जाम||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू में नकली नोट के साथ पांच गिरफ्तार, नेपाल और कोलकाता से जुड़े हैं तार

50 हजार देने पर मिलते हैं एक लाख रुपये के नकली नोट

पलामू : जिले में नकली नोट चलाने वाला एक गिरोह सक्रिय है। पुलिस ने ऐसे गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। सभी को रेलवे स्टेशन जाने वाली सड़क पर रेड़मा ओवरब्रिज के नीचे चाय दुकान से हिरासत में लिया गया है। सूचना है कि इनके पास से 29 हजार रुपये के नकली नोट बरामद किये गये हैं। हिरासत में लिए गये लोगों में दो मोहम्मदगंज, एक तरहसी और दो मेदिनीनगर शहरी क्षेत्र के हैं। पुलिस सभी आरोपियों से कई स्तरों पर पूछताछ कर रही है। संभावना है कि जल्द ही इस मामले का खुलासा हो जायेगा।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि शहर में जाली नोट चलाने वाला गिरोह घुस आया है। पुलिस ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी और जांच शुरू कर दी। इसी क्रम में संदेह के आधार पर रेड़मा ओवरब्रिज के नीचे एक चाय दुकान में कुछ लोगों को चाय पीते हुए पकड़ा गया। तलाशी लेने पर उनके पास से 29 हजार रुपये के नकली नोट बरामद हुए। जानकारी मिली है कि सभी नोट 500-500 रुपये के बरामद किये गये हैं।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में गिरोह के सदस्यों ने बताया कि 50 हजार रुपये के एक नंबर के नोट देने पर उन्हें एक लाख रुपये तक के नकली नोट मिल जाते थे। सभी नकली नोट लगभग असली नोटों से मेल खाते थे। इस कारण ये जल्दी पकड़ में नहीं आते। पुलिस को मिले इनपुट के मुताबिक इसके तार नेपाल और कोलकाता से जुड़े हैं। पुलिस इस बिंदु पर भी जांच कर रही है। शहर में नकली नोटों के कारोबार में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी जांच की जा रही है। नकली नोटों के खिलाफ इस कार्रवाई को पुलिस बड़ी सफलता मान रही है।