Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

लातेहार में आजसू ने फूंका मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का पुतला

'

लातेहार में मंगलवार को आजसू पार्टी ने समाहरणालय गेट के समीप मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का पुतला फूंका।

मौके पर जिला अध्यक्ष अमित पाण्डेय ने कहा कि आज अन्तरराष्ट्रीय महिला दिवस है। महिलायें के आजादी का जश्न मनाने के बजाय हमलोगों ने झारखण्ड सरकार का पुतला दहन किया है। हेमंत सरकार ने झारखंड में झारखंडियों को अपनी पहचान ढूंढने पर मजबूर कर दिया है।

उन्होंने कहा कि 1932 के खतियान के अधार पर नियोजन व स्थानीय निती व अन्य मुद्दों पर झारखण्ड विधान सभा घेराव को विफल करने के लिए झारखंड सरकार ने पूरे राज्य में अघोषित कर्फ़्यू लगा दिया था। महिलाओं को भी नही बख्शा।

अनुमंडल पदाधिकारी के न्यायालय से 10 हजार लोगों को नोटिस जारी करवाया गया। इससे हेमंत सरकार के दमनकारी व गुण्डागर्दी चरित्र उजागर हो गया। सरकार के विरुद्ध हमारा आन्दोलन निरन्तर जारी रहेगा।

जिला प्रवक्ता नितेश पाण्डेय ने कहा कि दमनकारी सत्ता को चकनाचूर करने के लिए आन्दोलन कर सत्ता च्युत करने का बीज हमारी पार्टी ने जन मुद्दे पर आन्दोलन का शंखनाद कर कर दिया है।

जिला उपाध्यक्ष श्रावण पासवान ने कहा कि झारखण्ड सरकार के नासमझी के कारण राज्य के नौजवान सडकों पर उतरने के लिए बाध्य हुए हैं। अब लडाई जारी रहेगी। जिले के सभी प्रखंडों में हेमन्त सोरेन सरकार का पुतला दहन किया गया है।

मोके पर कुंदन जायसवाल, बिजेंद्र दास, नितेश जयसवाल, मोहन पासवान, यसवंत पासवान, अमर उरांव, रितेश कुमार समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.