Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
पलामू

पलामू बाल गृह से फिर फरार हुए तीन बच्चे, खेलते-खेलते गार्ड को दिया चकमा

पलामू : पलामू बाल गृह से फिर तीन बच्चे फरार हो गये हैं। तीनों बच्चे खेलते-खेलते गार्ड को चकमा देकर फरार हो गए। पूरे मामले में बाल गृह के संचालक ने मेदिनीनगर शहर थाने में आवेदन दिया है। जिसके आधार पर पुलिस बच्चों की तलाश कर रही है। फरार तीन बच्चों में से एक गढ़वा के नगर उंटारी का, एक पलामू के रामगढ़ का और एक पलामू के मनातू का रहने वाला है। जिसमें रामगढ़ का बच्चा बरामद हो गया है। जबकि दो बच्चों की तलाश जारी है।

मिली जानकारी के अनुसार तीनों बच्चे खेल रहे थे, खेलने के दौरान ही तीनों बच्चे गार्ड को चकमा देकर फरार हो गए। तीनों बाल गृह की चारदीवारी पर चढ़कर फरार हो गए हैं।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस मामले में शहर थाना प्रभारी अभय कुमार सिन्हा ने बताया कि मामले में पुलिस को आवेदन मिला है। पुलिस फरार तीनों बच्चों को बरामद करने का प्रयास कर रही है। भागे हुए तीनों बच्चों को जुलाई, सितंबर और अक्टूबर में बाल गृह लाया गया था।

जिला बाल संरक्षण अधिकारी प्रकाश कुमार ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। तीनों बच्चों की तलाश के लिए विभागीय अधिकारी व पुलिस कई इलाकों में तलाशी अभियान चला रही है। सीडब्ल्यूसी ने भी पूरे मामले का संज्ञान लिया है। बाल गृह का संचालन वात्सल्यधाम नामक संस्था कर रही है। इसके अधीक्षक श्याम बाबू ने मेदिनीनगर शहर थाने में आवेदन दिया है।

आपको बता दें कि बाल गृह में उन बच्चों को रखा जाता है जिनके माता-पिता का पता नहीं चल पाता है, वे बाल मजदूरी से मुक्त कराये गये हों या अपने परिजनों से भटक गये हों।