Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जिला परिषद उपाध्यक्ष ने कहा- सरकार की योजनाओं में भ्रष्टाचार का माध्यम बन गये हैं मान्यता प्राप्त वेंडर, हो भौतिक सत्यापन

लातेहार : लातेहार जिले में स्थित मान्यता प्राप्त विक्रेताओं (वेंडरों) के भौतिक सत्यापन के लिए जिला परिषद उपाध्यक्ष अनिता देवी ने उप विकास आयुक्त को पत्र लिखा है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि विभिन्न स्रोतों से ऐसी जानकारी मिल रही है कि लातेहार जिले में मान्यता प्राप्त विक्रेता (वेंडर) सरकार की योजनाओं में भ्रष्टाचार का माध्यम बन गये हैं। साथ ही बड़ी संख्या में उनके प्रतिष्ठान कागजों पर चल रहे हैं। प्रतिष्ठान कर चोरी में भी शामिल है। सरकारी रिकॉर्ड में पेश किये गये आंकड़े और उनके द्वारा सरकार को सौंपे गये पत्र में अंतर होने की संभावना है। इन सभी तथ्यों की निगरानी के अभाव में बड़े पैमाने पर अनियमितता की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।

उन्होंने लिखा है कि सभी मान्यता प्राप्त विक्रेताओं का भौतिक सत्यापन के साथ-साथ उनके दस्तावेजों की जांच करना नितांत आवश्यक है, ताकि भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जा सके।

Latehar Latest News Today