Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में कोयला कारोबारियों से व्हाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगने वाला TSPC का एरिया कमांडर गिरफ्तार, भेजा जेल||हेमंत सरकार तीन वर्ष पूरे होने पर सुखाड़ प्रभावित 22 जिलों के किसानों को देगी तोहफा, आवेदन शुरू||झारखंड: ऑनलाइन गेम में मिली हार से परेशान बच्चे ने कर ली खुदकुशी, माता-पिता हो जायें सावधान!||पलामू में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया शारीरिक शोषण||बूढ़ा पहाड़ से फिर मिले 12 केन IED बम, किया गया नष्ट||सीओ हेमा प्रसाद व अन्य के खिलाफ होगी ACB जांच, सीएम हेमंत सोरेन ने दी मंजूरी||राज्य के अधिकारी करेंगे झारखंड के सरकारी स्कूलों का दौरा, देखिये किस अधिकारी को मिली किस जिले की जिम्मेदारी||मानव तस्करी के शिकार झारखंड के 14 बच्चों को दिल्ली से कराया गया मुक्त||केंद्र की झारखंड को चेतावनी, कहा- डीवीसी का बकाया चुकाओ, नहीं तो जारी रहेगी बिजली कटौती||लातेहार: छिपादोहर में अज्ञात अपराधियों ने की फायरिंग, गोली लगने से महिला घायल, रेफर

अभिजीत पावर प्लांट से चोरी का स्क्रैप लेकर भाग रहे दो ऑटो जब्त, एक गिरफ्तार, एक भागने में सफल

लातेहार : लातेहार एसपी अंजनी अंजन को मिली गुप्त सूचना के आधार पर चंदवा पुलिस ने छापेमारी कर चकला गांव से कबाड़ (स्क्रैप) लदे दो ऑटो जब्त किये। दोनों में करीब 9 क्विंटल अवैध कबाड़ लदे हुए थे।

चंदवा थाने के प्रभारी पुलिस निरीक्षक बबलू कुमार ने बताया कि सूचना के बाद गुरुवार को चकला गांव में छापेमारी की गयी। इस दौरान दो ऑटो तेज रफ्तार में भागते नजर आये। इनमें से एक पैसेंजर ऑटो और दूसरा कार्गो ऑटो था। पुलिस बल द्वारा दोनों का पीछा किया गया, एक ऑटो चालक ऑटो छोड़कर भागने में सफल रहा जबकि दूसरे ऑटो चालक को पुलिस ने पकड़ लिया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

गिरफ्तार चालक की पहचान संतोष कुमार गुप्ता पिता उमेश प्रसाद गड़ीलोंग टंडवा जिला चतरा के रूप में हुई है। पुलिस ने बताया कि चंदवा थाने के कांड संख्या 137/22 के तहत दोनों ऑटो के चालक व मालिक के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। दूसरे ऑटो चालक व मालिक की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

आपको बता दें कि लाख कोशिशों के बाद भी अर्धनिर्मित अभिजीत पावर प्लांट से स्क्रैप चोरी का कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इन दिनों साइकिल, ऑटो सहित पिकअप व बड़े ट्रकों से भी अवैध रूप से कबाड़ का खेल चल रहा है। पुलिस द्वारा छोटे-मोटे चोरियों को पकड़ा जा रहा है। लेकिन बड़े पैमाने पर कबाड़ का अवैध कारोबार करने वाले अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।