Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

डालटनगंज रेलवे स्टेशन से आरपीएफ ने नौ बाल मजदूरों को कराया मुक्त, एक तस्कर गिरफ्तार

पलामू : डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर रेस्क्यू कर गुरुवार की रात नौ बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया है। सारे बच्चे दिल्ली ले जाये जा रहे थे। उन्हें एक खिलौना फैक्ट्री में काम पर लगाना था। सूचना मिलते ही गढ़वा रोड आरपीएफ इंस्पेक्टर बनारसी यादव ने कार्रवाई की। बच्चों को स्टेशन से मुक्त कराने के बाद टाउन थाना में रखा गया। सीडब्लूसी से काउंसिलिंग कराने के बाद बच्चों को उनके माता-पिता को सौंप दिया जायेगा। सारे बच्चे चैनपुर प्रखंड के सेमरा पंचायत क्षेत्र के निवासी हैं। इस सिलसिले में एक तस्कर रामगढ़ के चौपरिया निवासी मुनीफ अंसारी (21) को गिरफ्तार किया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अभय कुमार सिन्हा ने शुक्रवार को बताया कि गुप्त सूचना मिलने के बाद आरपीएफ गढ़वा रोड के इंस्पेक्टर बनारसी यादव ने डालटनगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से नौ बच्चों का रेस्क्यू किया। सभी बच्चों को दिल्ली के खिलौना फैक्ट्री में काम कराने के लिए ले जाया जा रहा था। सारे बच्चों को स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस से दिल्ली ले जाने की तैयारी थी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में एक तस्कर को गिरफ्तार किया गया है। उसने कई जानकारी दी है। इस पर कार्रवाई की जा रही है। सीडब्लूसी से काउंसिलिंग कराने के बाद बच्चों को उनके परिजनों के हवाले कर दिया जायेगा।

इधर बच्चों के परिजनों ने बताया कि सारे बच्चे गावं में क्रिकेट खेलने के बाद से लापता हो गए थे, उन्हें ढूंढा जा रहा था। इसी बीच सूचना मिली कि सभी को बहला फुसलाकर दिल्ली ले जाया जा रहा है। टाउन थाना से सूचना मिलने पर बच्चों को लेने के लिए पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि घर से निकलते समय बच्चों ने किसी तरह की कोई जानकारी नहीं दी थी।