Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

पलामू: पत्नी की बातों से प्रेरित होकर TSPC के कमांडर ने किया सरेंडर, देखें विडियो

'

Palamu Naxal Surrender

पलामू : गुरूवार को प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन टीएसपीसी के एरिया कमांडर अभय जी उर्फ सकेन्द्र यादव ने पत्नी के कहने पर पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

अभय यादव पलामू जिले के रामगढ़ थाना क्षेत्र के मसूरमू गांव के कथार टोला का रहने वाला है। पलामू के डीसी शशि रंजन और एसपी चंदन कुमार सिन्हा के सामने एरिया कमांडर ने 3.15 बोल्ट एक्शन राइफल और 14 गोलियों के साथ आत्मसमर्पण किया। डीसी और एसपी ने उग्रवादी एरिया कमांडर का माला पहनाकर स्वागत किया और मुख्य धारा में लौटने के उनके फैसले की सराहना की।

इस मौके पर डीसी ने कहा कि झारखंड सरकार का पुनर्वास पैकेज अन्य राज्यों की तुलना में काफी बेहतर है। आत्मसमर्पण करने वाले उग्रवादी से पूछताछ के बाद उसे पैकेज के अनुसार सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। भूमि, खुली जेल में रहने की सुविधा, रोजगार आदि के संबंध में निर्णय लिया जाएगा।

एसपी ने बताया कि टीपीसी के एरिया कमांडर को फिलहाल न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है। पुनर्वास नीति के माध्यम से उनके मामलों की समीक्षा की जाएगी। एसपी ने यह भी बताया कि अभय यादव साल 2014 में टीएसपीसी के नितांत जी के दस्ते में शामिल हुआ था और 2017 में जेल गया था। जून 2021 में जेल से बाहर आने के बाद चार-पांच लोगों के साथ मिलकर टीएसपीसी का एक दस्ता बनाकर वह आपराधिक वारदातों को अंजाम दे रहा था। अभय यादव के खिलाफ सबसे ज्यादा आपराधिक मामले रामगढ़ थाने में दर्ज हैं। जबकि चैनपुर में दो और गढ़वा के रमकंडा में एक मामला दर्ज है।

इस अवसर पर अभियान एसपी बीके मिश्रा, चैनपुर अंचल पुलिस निरीक्षक तुलसीदास मुंडा, चैनपुर इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी उदय कुमार गुप्ता और रामगढ़ थाना प्रभारी प्रभात रंजन राय उपस्थित थे।

पत्नी के कहने पर आया बदलाव

एरिया कमांडर अभय जी उर्फ ​​सकेंद्र की छह महीने पहले शादी हुई थी। पुलिस की दबिश और पत्नी के समझाने के बाद अभय में बदलाव आया और उन्होंने मुख्यधारा में लौटने का फैसला किया। पलामू के डीआईजी से संपर्क करने पर उन्होंने अभय को प्रेरित किया और हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। अभय ने कहा कि शादी के बाद उसकी पत्नी उसे बार-बार समझाती थी कि उग्रवादी संगठन में रहने वालों की उम्र लंबी नहीं होती। ऐसे में उसने अपनी पत्नी की बात मान ली और आत्मसमर्पण करने का फैसला किया।

Palamu Naxal Surrender


Leave a Reply

Your email address will not be published.