Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में कोयला कारोबारियों से व्हाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगने वाला TSPC का एरिया कमांडर गिरफ्तार, भेजा जेल||हेमंत सरकार तीन वर्ष पूरे होने पर सुखाड़ प्रभावित 22 जिलों के किसानों को देगी तोहफा, आवेदन शुरू||झारखंड: ऑनलाइन गेम में मिली हार से परेशान बच्चे ने कर ली खुदकुशी, माता-पिता हो जायें सावधान!||पलामू में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया शारीरिक शोषण||बूढ़ा पहाड़ से फिर मिले 12 केन IED बम, किया गया नष्ट||सीओ हेमा प्रसाद व अन्य के खिलाफ होगी ACB जांच, सीएम हेमंत सोरेन ने दी मंजूरी||राज्य के अधिकारी करेंगे झारखंड के सरकारी स्कूलों का दौरा, देखिये किस अधिकारी को मिली किस जिले की जिम्मेदारी||मानव तस्करी के शिकार झारखंड के 14 बच्चों को दिल्ली से कराया गया मुक्त||केंद्र की झारखंड को चेतावनी, कहा- डीवीसी का बकाया चुकाओ, नहीं तो जारी रहेगी बिजली कटौती||लातेहार: छिपादोहर में अज्ञात अपराधियों ने की फायरिंग, गोली लगने से महिला घायल, रेफर

पलामू ACB की टीम ने मुखिया को रिश्वत लेते रंगेहाथ पकड़ा

पलामू एसीबी की टीम ने शुक्रवार की दोपहर श्री बंशीधर नगर प्रखंड अंतर्गत कोलझिकी पंचायत के मुखिया अजय प्रसाद गुप्ता को 15 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री बंशीधर नगर प्रखंड अंतर्गत कोलझिकी पंचायत के मुखिया अजय प्रसाद गुप्ता आंगनबाड़ी केंद्र से जुड़े एक व्यक्ति से रिश्वत की मांग कर रहे थे। जिसके बाद उस व्यक्ति ने इसकी जानकारी एसीबी को दी। एसीबी ने मामले की गहनता से जांच की। जांच में सही पाए जाने के बाद एसीबी ने टीम गठित कर यह कार्रवाई की है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जानकारी के अनुसार गढ़वा से लौटते समय मुखिया ने रमना से फोन कर उस व्यक्ति से 15 हजार रुपये रिश्वत की मांग की थी। वह जैसे ही रुपये लेकर मुखिया को देने पहुंचा एसीबी की टीम ने रमना बस स्टैंड स्थित सर्वेश्वरी चौक के पास से मुखिया को 15 हजार रुपये लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

रंगे हाथों पकड़े जाने के बाद मुखिया ने रुपये फेंककर शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर लोगों की भीड़ बढ़ने लगी। लोगों की भीड़ देख एसीबी भी कुछ देर के लिए अचकचा गयी। हालांकि एसीबी की टीम अजय प्रसाद गुप्ता को अपनी गाड़ी में बिठाकर मेदिनीनगर ले जाने में सफल रही। गिरफ्तारी के बाद रिश्वत लेने वालों में हड़कंप मच गया है।