Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

धर्म छुपाकर युवक ने हिंदू महिला से कर ली शादी, तीन बच्चे होने के बाद छोड़ा, डीसी से न्याय की गुहार

'

गढ़वा : एक मुस्लिम युवक ने अपना धर्म छुपाकर एक हिंदू महिला से शादी कर ली। युवक ने तीन बच्चे होने के बाद महिला को छोड़ दिया है। पीड़ित महिला सोमवार को डीसी रमेश घोलप से न्याय की गुहार लगाने कलेक्ट्रेट पहुंची थी।

इससे पहले भी वह महिला थाने और श्रीबंशीधर नगर स्थित पुलिस अधीक्षक से गुहार लगा चुकी हैं। पीड़ित महिला उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के बेलाडी गांव की रहने वाली है। वहीं, युवक गढ़वा जिले के धुरकी प्रखंड के कुम्बा गांव का रहने वाला है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पीड़िता ने डीसी को बताया कि युवक का असली नाम शहजाद अंसारी है. 9 साल पहले युवक ने अपना नाम रवींद्र बताया था। तब वह दिल्ली के एक क्रशर प्लांट में मजदूरी का काम करता था। उस दौरान वहां रहने वाले मेरे रिश्तेदार भी उसी क्रशर प्लांट में काम करते थे। युवक ने मोबाइल नंबर लेकर परिजन से बात करना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे बातचीत शुरू हुई। फिर नजदीकियां बढ़ीं।

दिल्ली में रहने वाले एक रिश्तेदार से मिलने के क्रम में मुलाक़ात भी होती थी। करीब छह महीने बाद उसकी शादी मंदिर में हुई। शादी के दो दिन बाद सच्चाई का पता चला। इसके बाद वह मुझे अपने गांव ले आए। लेकिन कुछ दिन वहां रहने के बाद वह अपने घर लौट आई। शहजाद भी उसके साथ अपने मायके में अलग किराए के मकान में रहने लगा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

वह वहां करीब आठ साल तक रहे। वहीं क्रशर प्लांट बंद होने के बाद वह अपने गांव कुम्बा लौट आए। यहां लौटने के बाद उन्होंने मेंटेनेंस के लिए पैसे देना बंद कर दिया। वहीं जब वह शहजाद के घर पहुंची तो मारपीट करने लगी। इसकी शिकायत श्रीबंशीगर नगर महिला थाने में की गई थी। तब शहजाद रखरखाव के लिए पैसे देने को तैयार हो गया। उसके बाद अपने गांव लौटते ही शहजाद ने पैसे देने से इनकार कर दिया। इसके अलावा उन्होंने साथ देने से भी इनकार कर दिया। उन्होंने अप्रैल माह में एसपी से भी शिकायत की थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। फिलहाल पीड़िता गढ़वा रेलवे स्टेशन पर रहकर न्याय के लिए भटक रही है।