Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
गढ़वापलामू प्रमंडल

गढ़वा: श्री बंशीधर नगर अस्पताल के स्टोर रूम में आग लगने से लाखों रुपये का सामान जल कर राख

गढ़वा : जिले के श्री बंशीधर नगर अनुमंडल अस्पताल के स्टोर रूम में मंगलवार की सुबह आग लगने से लाखों रुपये का सामान जल कर राख हो गया। घटना की जानकारी मिलने के बाद अस्पताल कर्मियों ने आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

घटना की जानकारी होने पर दमकल की गाड़ी भी अस्पताल पहुंच गयी, लेकिन सड़क नहीं होने के कारण दमकल कर्मी आग नहीं बुझा पाये। अस्पताल प्रबंधन के मुताबिक सुबह राजमती अस्पताल की सफाई के दौरान सफाईकर्मी ने स्टोर रूम से धुआं निकलते देखा तो ड्यूटी पर मौजूद कैसर आलम को सूचना दी। कैसर आलम ने डीएस डॉ. सुचित्रा को सूचना दी और अस्पताल कर्मियों के साथ आग बुझाने में जुट गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

कुछ देर बाद डीएस भी अस्पताल पहुंचे, स्टोर रूम में आग देखकर ताला तोड़कर सामान बचाने की कोशिश की लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। स्टोर रूम में रखी दवाइयां, फर्नीचर, पुराने दस्तावेज व अन्य सामान जल गया। अस्पताल की बाउंड्री में स्थित आम तोड़ रहे बच्चों द्वारा आग लगाने की आशंका जतायी जा रही है। हालांकि, समय रहते आग पर काबू नहीं पाया गया होता, तो बड़ा हादसा हो सकता था। आग की चपेट में कुपोषण उपचार केंद्र, दवा स्टोर रूम, प्रसव कक्ष, जले हुए स्टोर रूम के बगल में स्थित प्रसूति गृह भी आग की चपेट में आ सकता था, जिससे एक बड़ा हादसा हो सकता था।

इस संबंध में डीएस डॉ. सुचित्रा कुमारी ने बताया कि सफाई के दौरान सफाई कर्मी राजमती ने अस्पताल की चारदीवारी के पीछे कुछ बच्चों को आम तोड़ते देखा था। उन्होंने संभावना जतायी कि आम तोड़ते समय बच्चों ने ही आग लगा ली, जिससे स्टोर रूम जलकर राख हो गया।