Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

बालूमाथ: वाहन की चपेट में आने से 4 मवेशियों की मौत, 5 घायल, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ-चंदवा मार्ग पर थाना क्षेत्र के चितरपुर ग्राम अंतर्गत चोरझारिया घाटी के पास अज्ञात वाहन की चपेट में आने से 4 मवेशियों की मौत हो गयी। जबकि पांच अन्य घायल हो गये। घायलों में 2 की स्थिति गंभीर और चिंताजनक बतायी जा रही है। सभी मवेशी थाना क्षेत्र के धाधू पंचायत अंतर्गत मुरगांव ग्राम निवासी संदीप गंझू की बतायी जा रही है।

मिली जानकारी के अनुसार उपरोक्त मवेशी सोमवार की सुबह सड़क पार कर रहे थे इसी दौरान अज्ञात वाहन ने उन्हें अपनी चपेट में ले लिया। घायलों में 2 भैंस गर्भवती हैं जिनकी स्थिति गंभीर और चिंताजनक बतायी जा रही है। इस घटना में पशुपालक को करीब दो लाख का आर्थिक नुकसान होने कि आशंका जतायी जा रही है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस घटना से आक्रोशित पशुपालक और स्थानीय ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर किया। इसके बाद दूरभाष पर अंचलाधिकारी आफताब आलम ने पीड़ित परिवार को विभागीय स्तर पर हर संभव मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद जाम हटा लिया गया।

मौके पर भाजपा नेता शैलेश सिंह, पंचायत के पूर्व मुखिया अरविंद उरांव, वर्तमान मुखिया पति रामवृक्ष उरांव समेत काफी संख्या में स्थानीय ग्रामीण पुरुष व महिला मौजूद रहे।