Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
देश-विदेश

नक्सलियों की अब खैर नहीं ! सैटेलाइट ट्रैकर का होगा इस्तेमाल, बड़े ऑपरेशन की तैयारी

सुरक्षा बल नक्सल प्रभावित इलाकों में अपनी पैठ लगातार मजबूत करने में लगे हैं। सुरक्षाबलों के जवानों ने मांद में घुसकर नक्सलियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन की योजना तैयार की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरक्षा बल उपग्रहों से संचालित होने वाले सैटेलाइट ट्रैकर के माध्यम से काम करेंगे। जंगलों में नक्सलियों को ढूंढ़ना बेहद मुश्किल होता है। इसलिए अब अत्याधुनिक ड्रोन के साथ-साथ सैटेलाइट से लाइव तस्वीरों का इस्तेमाल किया जाएगा। आपको बता दें कि अभी भी झारखंड और छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में खूंखार नक्सली मौजूद है।

कैसे काम करता है सैटेलाइट ट्रैकर :-

सैटेलाइट के माध्यम से किसी भी एक स्थान की लाइव तस्वीरें खींची जाएगी। फिर इन तस्वीरों को सुरक्षा बलों के नियंत्रण कक्ष तक उपलब्ध कराई जाएंगी। उसके बाद नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में उन तस्वीरों को सुरक्षा बलों को साझा किया जाएग, जहां नक्सलियों की मौजूदगी है। इसके साथ ही रास्ते की सटीक जानकारी के लिए भी इसका उपयोग किया जाएगा। ताकि ऑपरेशन के बाद जवान जंगल में न भटकें और उन्हें सही रास्ता मिल सके।