Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

नक्सलियों की अब खैर नहीं ! सैटेलाइट ट्रैकर का होगा इस्तेमाल, बड़े ऑपरेशन की तैयारी

'

सुरक्षा बल नक्सल प्रभावित इलाकों में अपनी पैठ लगातार मजबूत करने में लगे हैं। सुरक्षाबलों के जवानों ने मांद में घुसकर नक्सलियों के खिलाफ बड़े ऑपरेशन की योजना तैयार की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सुरक्षा बल उपग्रहों से संचालित होने वाले सैटेलाइट ट्रैकर के माध्यम से काम करेंगे। जंगलों में नक्सलियों को ढूंढ़ना बेहद मुश्किल होता है। इसलिए अब अत्याधुनिक ड्रोन के साथ-साथ सैटेलाइट से लाइव तस्वीरों का इस्तेमाल किया जाएगा। आपको बता दें कि अभी भी झारखंड और छत्तीसगढ़ के कई इलाकों में खूंखार नक्सली मौजूद है।

कैसे काम करता है सैटेलाइट ट्रैकर :-

सैटेलाइट के माध्यम से किसी भी एक स्थान की लाइव तस्वीरें खींची जाएगी। फिर इन तस्वीरों को सुरक्षा बलों के नियंत्रण कक्ष तक उपलब्ध कराई जाएंगी। उसके बाद नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन में उन तस्वीरों को सुरक्षा बलों को साझा किया जाएग, जहां नक्सलियों की मौजूदगी है। इसके साथ ही रास्ते की सटीक जानकारी के लिए भी इसका उपयोग किया जाएगा। ताकि ऑपरेशन के बाद जवान जंगल में न भटकें और उन्हें सही रास्ता मिल सके।