लातेहार : 2 वर्षों से लापता युवक मिला अपने परिजनों से, हिमांचल प्रदेश के नवयुवक ने निभाई महत्वपूर्ण भूमिका, मृत मान चुके थे परिजन

लातेहार: सदर थाना क्षेत्र के पतरातू रिचुघुटा गांव का एक युवक पिछले 2 वर्षों से लापता था। जो हिमाचल प्रदेश के एक नवयुवक की सहायता से मंगलवार को अपने परिजनों से मिला।

सदर थाना के इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि पतरातू रिचुगुटा के रहने वाला 25 वर्षीय संजय कुमार, पिता छटू सिंह एक ठेकेदार के साथ काम करने करीब 2 वर्षं पूर्व जलडेगा (सिमडेगा) गया था और वहीँ से लापता हो गया था। पूर्व में एक्सिडेंट में सर में चोट लग जाने के कारण उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी, जिसके कारण वह भटकते हुए वहां से गायब हो गया। उसके परिजन तब से उसे दूंढ़ रहे थे, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। उसके परिजन उसे मृत मान चुके थे।

उन्होंने बताया कि वह एक ठेकेदार के साथ काम करने के लिए करीब 2 साल पूर्व जलडेगा (सिमडेगा) गया हुआ था। संजय कुमार की पूर्व में एक्सिडेंट में सर में चोट लग जाने के कारण मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी जिसके कारण वह भटकते हुए वहां से गायब हो गया। उसके परिजन तब से ही संजय कुमार को दूंढ़ रहे थे पंरतु उसका कुछ पता नहीं चला। संजय कुमार के परिजन उसे मृत मान चुके थे।

नवयुवक सुधीर सेठी

उन्होंने बताया कि 15 दिन पूर्व हिमांचल प्रदेश जिला चंबा के रहने वाले नवयुवक सुधीर सेठी ने मुझसे संपर्क किया और बताया की संजय कुमार वर्तमान में हिमांचल प्रदेश जिला चंबा के किहार थाना अंतर्गत लचोड़ी में भटक कर करीब 2 वर्ष पूर्व चला आया तब से एक हार्डवेयर दुकान में काम कर रहा है। लेकिन जानकारी के अभाव में घर नहीं जा रहा है।

इसके बाद सुधीर सेठी के सहयोग से संजय के परिजनों को हिमांचल प्रदेश भेजा गया। जहां किहार पुलिस के सहयोग से संजय कुमार को उसके परिजनों को सौपा गया। मंगलवार को उसके परिजन उसे लेकर लातेहार वापस आये।

संजय कुमार को उसके परिजनों से मिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका हिमांचल प्रदेश सुधीर सेटी के द्वारा निभाई गयी। संजय कुमार के लातेहार पहुँचने पर सुधीर सेठी ने मोबाइल पर उसका कुशल क्षेम पूछा। संजय कुमार के परिजन इस नेक काम के लिए सुधीर सेठी को फरिश्ता के रूप में देख रहे हैं।

Leave a Reply