Breaking :
||झारखंड के 248 पारा शिक्षक गायब, 232 ने छोड़ी नौकरी, 5 दिसंबर तक मिला मौका||झारखंड में छह साल से नहीं हुई जेटेट परीक्षा, हाईकोर्ट में याचिका दायर||मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार समेत चार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी||मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत||लातेहार: बालूमाथ में कोयला कारोबारियों से व्हाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगने वाला TSPC का एरिया कमांडर गिरफ्तार, भेजा जेल||हेमंत सरकार तीन वर्ष पूरे होने पर सुखाड़ प्रभावित 22 जिलों के किसानों को देगी तोहफा, आवेदन शुरू||झारखंड: ऑनलाइन गेम में मिली हार से परेशान बच्चे ने कर ली खुदकुशी, माता-पिता हो जायें सावधान!||पलामू में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया शारीरिक शोषण||बूढ़ा पहाड़ से फिर मिले 12 केन IED बम, किया गया नष्ट||सीओ हेमा प्रसाद व अन्य के खिलाफ होगी ACB जांच, सीएम हेमंत सोरेन ने दी मंजूरी

बालूमाथ: उड़ती धूल से परेशान ग्रामीणों ने रेलवे साइडिंग में काम रोका

लातेहार : बालूमाथ स्थित रेलवे कोल साइडिंग के पास स्थित टेमराबार गांव के ग्रामीणों ने मंगलवार को अपनी मांगों को लेकर रेलवे कोल साइडिंग का काम रोक दिया।

ग्रामीणों ने साइडिंग में कोयला ले जा रहे हाईवे को साइडिंग में प्रवेश करने से रोका। इससे वाहनों की लंबी कतार लग गई।

ग्रामीणों ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि टेमराबार गांव के ग्रामीण साइडिंग में कोयला ले जा रहे वाहनों से उड़ रहे धूल के कणों से परेशान हैं। साइडिंग में काम करने वाली विभिन्न कंपनियों द्वारा पानी का छिड़काव नहीं किया जाता है, जिससे हमेशा धूल उड़ती रहती है।

इसके लिए नियमित रूप से पानी का छिड़काव करना चाहिए। साइडिंग की तरफ से गांव का रास्ता भी यही है। रास्ते में चालक द्वारा कार खड़ी की जाती है। इससे सड़क जाम हो जाती है और ग्रामीणों को आने-जाने में परेशानी होती है।

ग्रामीणों ने सीसीएल व रेल विभाग के अधिकारियों से मांग किया है कि गांव में जाने के लिए ओभर ब्रिज का निर्माण किया जाए। गांव के लोगों के लिए डीएमएफटी फंड से सीसीएल द्वारा विकास कार्य कराए जाए।

खबर लिखे जाने तक कोई भी अधिकारी जाम खुलवाने को लेकर ग्रामीणों से वार्ता करने जाम स्थल पर नहीं पहुंचे थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *