Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

चंदवा: रास्ता रोके जाने से गुस्साये ग्रामीणों का रेल प्रशासन के खिलाफ रोषपूर्ण प्रदर्शन, रेल चक्का जाम की दी चेतावनी

Tori Road Blockage

सभा कर कहा कि रास्ता नहीं दिया तो रेल का पहिया करेंगे जाम

लातेहार : चंदवा के टोरी-महुआमिलान रेलखंड के केकराही गांव के रेलवे पोल संख्या175/17-18 स्थित रेल परिसर पर पिलर लगा बैरिकेडिंग कर जनता का रास्ता रोके जाने को लेकर रेलवे प्रशासन के खिलाफ ग्रामीणों ने रेल परिसर पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन कर सभा की।

सभा की अध्यक्षता गंदुरा लोहरा ने की। संचालन माकपा के वरिष्ठ नेता अयुब खान कर रहे थे। प्रदर्शन का नेतृत्व झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य दीपू कुमार सिन्हा, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष सह राज्यसभा सांसद प्रतिनिधि असगर खान ने की।

प्रदर्शन के दौरान ग्रामीणों ने रास्ता रोकने वाले रेल अधिकारी होश में आओ, ग्रामीणों का रास्ता देना होगा, रास्ता रोक कर ग्रामीणों पर अत्याचार करना बंद करो जैसे नारे लगा रहे थे।

सभा में उपस्थित मुख्य वक्ता झामुमो के केंद्रीय समिति सदस्य दीपू कुमार सिन्हा ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि टोरी जंक्शन अंतर्गत महुआमिलान रेलखंड के माल्हन पंचायत अंतर्गत केकराही गांव के रेलवे पोल संख्या 175/17-18 के समीप अवस्थित गांव के आम रास्ते को बिना कोई वैकल्पिक व्यवस्था किये या अंडरब्रिज का निर्माण कराये ही पीलरिंग एवं बैरिकेडिंग कर बंद कर दिया गया है।

रेलवे प्रशासन के इस अदूरदर्शी एवं हिटलर शाही नीति के कारण दर्जनों गांवों जिनमें केकराही, केंदुआताड़, मर्मर, देवनदिया, शकलेतेरी, पारतांड, छठर, पुत्तरी टोला आदि दर्जनाधिक आदिवासी, हरिजन बहुल गांव के ग्रामीणों को आवागमन में काफी कठिनाई एवं परेशानी हो रही है।

उक्त गांवों का संपर्क जिला, प्रखंड एवं पंचायत मुख्यालय से कट गया है। ये गांव पहाड़ की तलहटी एवं दुर्गम स्थानों में बसे हुए हैं जहां पहले से ही आवागमन के रास्तों की कमी है। ऐसे में इन गांवों के आवागमन का एकमात्र सहारा इस रास्ते को बैरिकेडिंग कर रोक देना एकदम अमानवीय एवं उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करने के समान है। यह कार्रवाई गरीब ग्रामीणों के साथ घोर अन्याय अत्याचार एवं क्रूरता पूर्ण कार्यवाही है।

कांग्रेस नेता असगर खान ने कहा कि रेलवे विभाग कि इस अदूरदर्शी एवं अन्याय पूर्ण कृत्य से पूरे गांव एवं इलाके के लोगों के बीच रेलवे प्रशासन के खिलाफ तीव्र रोष व्याप्त है।

माकपा नेता अयुब खान ने कहा कि हम ग्रामीणों की कठिनाइयों तथा परेशानियों को देखते हुए अविलंब हमें आवागमन हेतु रास्ता प्रदान किया जाए।

वक्ताओं ने एक स्वर में कहा कि 1 महीने के अंदर यदि हमें रास्ता नहीं दिया गया तो मजबूर होकर हमलोगों को रेल प्रशासन के खिलाफ आंदोलनात्मक कार्रवाई करने को विवश होना पड़ेगा। जिसकी सारी जवाबदेही रेल प्रशासन की होगी।

इसके अलावा सभा को पंसस कांति देवी, रामबचन गंझु, रुपलाल गंझु, रघु गंझ, सुरेश गंझु, अबुल अंसारी, जयमंगल गंझु, नीरज गुप्ता, जतरु मुंडा, संदीप टोप्पो, बबीता देवी, संजय गोप, जिरामनी देवी ने भी संबोधित किया।

अंत में पुलिस इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी आशुतोष कुमार, आरपीएफ प्रभारी और यातायात निरीक्षक संजय कुमार ने प्रदर्शन स्थल पर वार्ता की इस दौरान ग्रामीणों ने अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा।

डीआरएम धनबाद के पदनाम सौंपे गए ज्ञापन में टोरी – महुआमिलान रेलखंड के माल्हन पंचायत अंतर्गत केकराही गांव के रेलवे पोल संख्या 175/17-18 के समीप एम्बुलेंस और ग्रामीणों तथा चार पहिया वाहनों की परिचालन के लिए अंडरब्रिज का निर्माण जल्द कराया जाय।

टोरी – महुआमिलान रेलखंड के माल्हन पंचायत अंतर्गत केकराही गांव के रेलवे पोल संख्या 175/17-18 के समीप बैरिकेडिंग स्थल के आस पास जल्द ही वैकल्पिक रास्ता का निर्माण समेत अन्य माग शामिल हैं।

प्रदर्शन कार्यक्रम मे पंचायत समिति सदस्य कांति देवी, मुखिया मांती देवी, उप मुखिया बिलखो देवी, वार्ड सदस्य बिमली देवी, ग्राम प्रधान चामु गंझु, मनफरेन गंझु, रामबृछ गंझु, श्रवन गंझु, जन्मधारी गंझु, राजेश गंझु, भीम गंझु, श्रवन गंझु, रामबृछ गंझु, लालजी गंझु, सुरेशनाथ लोहरा, छोटेलाल गंझु, गुडवा गंझु, कोशीला देवी, रितवा देवी, पैरवा देवी, तेतरी देवी, चैंता गंझु, पुड़वा गंझु, प्रदीप ठाकुर, मथुरा सिंह, झरमन गंझु, रामवचन देव गंझु, विदेशी गंझु, सुनील मुंडा, मुबारक अंसारी, बरहमदेव गंझु, जमेदार सिंह, देवलाल उरांव, मनु उरांव, सुकरा गंझु, राजेश गंझु, सुजय गंझु, राजू भगत,। विजय भगत, अजीत कुजूर, सुखदेव गंझु, सबीता देवी, रीना देवी, बुधनी देवी, सुमन देवी, चैंतु भगत, सुमनी देवी, जिताह देवी, सुकरी देवी, अघनी देवी, प्रेमा देवी, खुशबू देवी, लालो देवी, प्रमीला देवी, कलावती देवी, ललीता कुमारी,पुशनू कुमारी, सुमन देवी, सरीता कुमारी, मनीता कुमारी, झरी मुंडा, त्रिवेणी यादव, जदू उरांव, शिव कुमार मुंडा सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं शामिल थे।

Tori Road Blockage

Tori Road Blockage


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *