Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
लातेहार

लातेहार किड्जी प्री स्कूल में महिषासुरमर्दिनी गतिविधि का आयोजन, बच्चों ने प्रस्तुत की मां दुर्गा के नौ रूपों की आकर्षक झांकी

लातेहार : किड्जी प्री स्कूल में नवरात्रि के पावन अवसर पर महिषासुरमर्दिनी गतिविधि का आयोजन किया गया। इस अवसर पर माता दुर्गा, लक्ष्मी, सरस्वती, राम, लक्ष्मण, सीता, हनुमान, महिषासुर और सिंह के रूप में रंग-बिरंगे पौराणिक परिधानों में सजे बच्चे स्कूल पहुंचे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस गतिविधि के दौरान बच्चों द्वारा महिषासुरमर्दिनी दृश्य पर आधारित कई झांकियां प्रस्तुत की गयीं। जो बहुत ही मनमोहक था।

कार्यक्रम के दौरान मां दुर्गा के नौ रूपों की आकर्षक झांकी प्रस्तुत की गयी। मां के नौ रूपों में सजे स्कूल की नन्ही बच्चियां बेहद आकर्षक और मनमोहक लग रही थीं। मां के नौ रूपों की विधिवत आरती और पूजा की गयी।

इस दौरान रामायण पर आधारित झांकी भी प्रस्तुत की गयी। जिसमें राम, लक्ष्मण, सीता और हनुमान के वेश में बच्चों ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

इस मौके पर बच्चों को संबोधित करते हुए किड्जी सेंटर हेड नवीन कुमार मिश्रा ने कहा कि महिषासुरमर्दिनी के नाम से मशहूर मां दुर्गा ने महिषासुर राक्षस का वध कर दुनिया की रक्षा की थी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

उन्होंने कहा कि विजयादशमी सिर्फ एक त्योहार नहीं है, बल्कि यह झूठ पर सच्चाई की, साहस की, निस्वार्थ मदद की और दोस्ती की जीत का प्रतीक है। दशहरे के दिन रावण के प्रतीकात्मक रूप को यह समझाने के लिए जलाया जाता है कि बुराई पर हमेशा अच्छाई की जीत होती है।

कार्यक्रम के सफल आयोजन में शिक्षिका पूजा कुमारी, अलका शर्मा, प्रियंका प्रियदर्शी, निहारिका सिंह, अटेंडेंट सुमिता, सुचिता, गार्ड प्रिया, वैन चालक नकुल, मेड सुमित्रा की सहभागिता सराहनीय रही।