Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Sunday, April 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडपलामू प्रमंडललातेहार

LATEHAR BREAKING: बड़ा रेल हादसा टला, पहाड़ के टुकड़े पटरी पर गिरे

लातेहार रेल हादसा

लातेहार : बरकाकाना-बरवाडीह रेलखंड के रिचुघुटा और चेतर स्टेशन के बीच रविवार की दोपहर तीसरी रेल लाइन निर्माण के दौरान एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया। ब्लास्टिंग के दौरान पहाड़ के बड़े-बड़े टुकड़े टूट कर अप लाइन के रेलवे ट्रैक पर जा गिरे। जिससे रेलवे ट्रैक पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया। जिससे अप लाइन पर ट्रेन का परिचालन पूरी तरह से बाधित हो गया। जो करीब 3 घंटे तक रहा।

यहाँ पर चल रहा था काम

ब्लास्टिंग के दौरान हुआ हादसा

जानकारी के अनुसार इस रेलखंड पर आरवीएनएल द्वारा तीसरी रेलवे लाइन का निर्माण किया जा रहा है। निर्माण कार्य के दौरान प्रस्तावित मार्ग पर एक पहाड़ आ रहा था। जिसे आरवीएनएल कर्मियों की देखरेख में पोल संख्या 190/17 के पास ब्लास्ट कर रास्ते से हटाया जा रहा था।

बाल-बाल बची मालगाड़ी

इस दौरान अनियंत्रित विस्फोट से पहाड़ टूट गया और रेलवे ट्रैक पर गिर गया। पहाड़ के टुकड़े इतने बड़े थे कि रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गया। गनीमत रही कि टोरी जंक्शन से अप लाइन पर आ रही मालगाड़ी चालक की सूझबूझ से बाल-बाल बच गई।

मौके पर पहुंचे रल अधिकारी

इधर हादसे की सूचना पर रेलवे के अधिकारी मौके पर पहुंचे और काफी मशक्कत के बाद अप लाइन पर गिरी बड़ी चट्टानों को जेसीबी की मदद से हटाया गया। खबर लिखे जाने तक करीब तीन घंटे के बाद रेल परिचालन फिर से शुरू कर दिया गया है। बताया जा रहा है कि रेलवे ट्रैक के आसपास पड़े पहाड़ के टुकड़ों को अभी भी ब्लॉक लेकर हटाने का कार्य किया जा रहा है।

आरवीएनएल कर्मियों को लगाईं फटकार

मिली जानकारी के अनुसार रेलवे अधिकारियों ने मौके पर मौजूद आरवीएनएल के अधिकारियों व कर्मियों को इस लापरवाही के लिए फटकार लगाई।

आरवीएनएल की कार्यशैली पर उठ रहे सवाल

आज जिस तरह से एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया, उसी तरह तीसरी रेलवे लाइन का निर्माण कर रही आरवीएनएल की कार्यशैली पर भी कई सवाल उठ रहे हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

लातेहार रेल हादसा