Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

विधिक सेवा सह सशक्तिकरण शिविर में ग्रामीणों को दी कानून की जानकारी

'

latehar news update

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू प्रखंड कार्यालय परिसर में झालसा के निर्देश पर आज विधिक सेवा सह सशक्तिकरण शिविर का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी मिथिलेश कुमार, बीडीओ प्रताप टोप्पो, सीओ शम्भु राम, बीस सूत्री अध्यक्ष कमरूदीन खलीफा ने दीप प्रज्वलित कर किया.

कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी मिथिलेश कुमार ने कहा मैं आपको यह बताना चाहता हूं कि प्रशासन और न्यायिक प्रशासन दोनों समाज के सभी अंगों के हर एक व्यक्ति और आखिरी व्यक्ति तक पहुंचने का संकल्प लेकर सारे कार्यो का निर्वहन करेगा. उन्होंने आगे कहा जागरूकता एक ऐसी चीज है, जिससे मनुष्य का शारीरिक और मानसिक सशक्तिकरण होता है.

अगर आपको यह जानकारी होगी कि कानून में क्या-क्या प्रावधान है, हमारे कानूनी अधिकार क्या-क्या हैं, इसकी जानकारी आपको हो तो स्वयं आप आगे आकर अपने न्याय के प्रति अपनी बातों को रख सकते हैं. न्यायालय में आपको सहयोग मिलेगा.

उन्होंने कहा कि विधिक सेवा प्राधिकार का उद्देश्य समाज के हर एक वर्ग के लिए, उनको सहयोग करने के लिए, सही जानकारी देने के लिए, सही बातें बताने के लिए और किस तरह आपस में बात करके मामले को समाप्त करने और मामलों का सुलह करने के लिए है. उन्होंने कहा कि घरेलू हिंसा के मामले में, पति-पत्नी के मामले में और अन्य मामलों में हमलोगों ने मध्यस्तता की एक राह चुनी है. किसी व्यक्ति के पास कोर्ट, कचहरी, केस लड़ने की शक्ति नहीं है, तो मुफ्त न्यायिक सुविधा उपलब्ध है. हर तरह का सहयोग न्यायलय में मिलेगा.

वही बीडीओ प्रताप टोप्पो ने उपस्थित आम-जन को संबोधित करते हुए कहा कि जो आज हमारे समाज में कुरूरीतियां, धारणाएं और गतिविधियां हैं, वो समाज को जाने-अनजाने में अंदर से कमजोर बना रही होती है. महिला के विरूद्ध मानसिक, शरीरिक प्रताड़ना का होना, एक बुजुर्ग महिला को डायन बताकर उनको प्रताड़ित करना, मानव तस्करी को बढ़ावा देना, जागरूकता और ज्ञान की कमी के कारण समाज में हो रहा है. इसे दूर कर महिलाएं और बहनों को एक गरिमामय और एक अच्छी जिंदगी देना है. इससे वे अपने बच्चों को अच्छा बना सकती हैं.

नशामुक्ति के बारे में उन्होंने कहा कि शराब घर समाज को तबाही के मंजर की ओर ले जाता है. नशा मुक्त समाज बनाने में सखी मंडल की बहनें नशा मुक्ति अभियान के संकल्प से गांव, प्रखंड को नशामुक्त बनाए. सभी लोग अपने अधिकार के लिए आगे आए. समाज में सुधार आपके खुद के सुधार से ही शुरू हो सकता है.

कार्यक्रम में उपस्थित कई लाभुकों के बीच विभिन्न सामग्रियों का वितरण किया गया।

latehar news update

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.