Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Friday, April 19, 2024
गारूलातेहार

वन विभाग ने ग्रामीणों से की जंगल को आग से बचाने की अपील, ग्रामीणों में बांटी फायर ब्लोअर मशीन

Palamu Tiger Reserve Forest Fire

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : गर्मी का मौसम शुरू होते ही जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है। हाल के दिनों में पीटीआर के तहत कुछ ऐसी घटनाएं भी हुई हैं। जंगल की आग से वन संपदा को बहुत नुकसान होता है। ऐसे में जंगलों को आग से बचाना वन विभाग के सामने बड़ी चुनौती है।

जंगल को आग से बचाने के लिए वन विभाग के अधिकारी व वन कर्मी जंगलों में लगने वाली आग से निपटने को लेकर कमर कश चुके है। पलामू टाइगर रिजर्व के तिसिया गांव में वनपाल सह इको विकास समिति के सचिव परमजीत तिवारी ने गांव के ग्रामीणों के साथ बैठकर आग पर काबू पाने के मुद्दे पर चर्चा की, साथ ही आग बुझाने के लिए ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की जानकारी दी।

परमजीत तिवारी ने बताया कि गर्मी के साथ-साथ महुआ का भी मौसम आ गया है। ऐसे में जंगल में आग लगने की संभावना और भी बढ़ जाती है। की महुआ के कारण ग्रामीण जंगल मे आग लगाते है और वही आग भयावह रूप ले लेती है। जिससे वन संपदा को काफी नुकसान होता है। इन सभी मुद्दों पर ग्रामीणों से चर्चा करने के बाद आग से जंगल व वन्य जीवों को हुए नुकसान की जानकारी साझा की गई है। इसके साथ ही ग्रामीणों से भी अपील है कि गांव वाले बेवजह आग न लगाएं और अगर आसपास कहीं भी आग लगे तो उसे रोकने का प्रयास करें।

परमजीत तिवारी ने कहा कि पीटीआर के बारेसाढ़ रेंज के तहत हर गांव के ग्रामीणों को इस सामान्य में जानकारी दी जा रही है. जिन गांवों में हमारी टीम नहीं पहुंची है। वनकर्मी वहां जाने के बाद भी ग्रामीणों को आग पर काबू पाने और आग न लगाने की जानकारी देंगे। वन विभाग की ओर से परमजीत तिवारी ने आग पर काबू पाने के लिए तिसिया गांव के ग्रामीणों के बीच 8 नए फायर ब्लोअर बांटे हैं।

उन्होंने कहा कि बारेसाढ़ रेंज में काम करने वाले विभिन्न ट्रैकर, गार्डों और जंगल में या उसके आसपास गश्त कर रहे हैं उनके बीच फायर ब्लोअर मशीन, सत्तू, गुड़, पानी की बोतल, टार्च, जूता और अन्य आवश्यक चीजें उपलब्ध कराई गईं हैं। बाकी कर्मियों को भी ये सभी जरूरी चीजें उपलब्ध कराई जाएंगी।

वन विभाग द्वारा दूरदर्शिता और समय पर उठाए गए उपाय जंगल की आग से निपटने में कारगर साबित हो सकते हैं। पीटीआर के जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए टीमें तैयार कर ली गई हैं। परमजीत तिवारी ने कहा कि वन विभाग पूरी टीम के साथ और मशीन के जरिए आग बुझाने के लिए तैयार है। साथ ही ग्रामीणों से भी संपर्क किया जा रहा है और आग पर काबू पाने और आग न लगाने की अपील की जा रही है।

Palamu Tiger Reserve Forest Fire


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *