Breaking :
||रांची में अपराधी की गोली मारकर हत्या, कालू लामा हत्याकांड में गया था जेल||लातेहार: चंदवा में टावर से लोहा काटते चार लोग रंगेहाथ गिरफ्तार, देशी कट्टा व जिंदा गोली बरामद||झारखंड में नहीं मिलेगी गर्मी से राहत, अभी और बढ़ेगा तापमान, अलर्ट जारी||शिबू सोरेन की अध्यक्षता में 10 जून को होगी झारखंड राज्य समन्वय समिति की बैठक||पलामू: बस पकड़ने का इंतजार कर रहे TSPC उग्रवादी को पुलिस ने पकड़ा||पलामू: शराब की लत से परेशान छोटे भाई ने कर दी थी बड़े भाई की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा||लातेहार: शहीद जवानों के शरीर में बम प्लांट करने वाला डॉक्टर माओवादी विंग कमांडर समेत दो गिरफ्तार||लातेहार: घर में घुसकर नाबालिग लड़की से जबरन दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार||लोहरदगा: माओवादियों ने सड़क निर्माण कार्य में लगी जेसीबी मशीन को फूंका, जांच में जुटी पुलिस||पलामू: नाबालिग बनी मां, स्वस्थ्य बच्ची को दिया जन्म, 46 वर्षीय पड़ोसी ने किया था दुष्कर्म

लातेहार: शुद्ध पेयजल की समस्या से जूझ रहे आंगनबाडी केंद्र के बच्चे, ग्रामीणों ने प्रशासन से की पेयजल सुविधा बहाल करने की मांग

लातेहार शुद्ध पेयजल समस्या

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू प्रखंड के घसीटोला पंचायत अंतर्गत नक्सल प्रभावित गांव पिरी के ग्रामीण मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रहे हैं। सबसे ज्यादा परेशानी ग्रामीणों ने शुद्ध पानी मयस्सर नही होना बताया है। ग्रामीणों ने बताया कि पिरी गांव के आंगनबाडी केंद्र में पेयजल की कोई सुविधा नहीं है और यह समस्या कई वर्षों से चल रही है।

आंगनबाडी केंद्र में पढ़ने के लिए आने वाले गांव के छोटे बच्चों को केंद्र में पानी की सुविधा नहीं होने से काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इस संबंध में केंद्र की सेविका सीतामणि देवी बताती हैं कि यहां कई वर्षों से पानी की समस्या है। कई बार सीडीपीओ को लिखकर भेजा जा चुका है। इसलिए मैं बच्चों के लिए डेढ़ किलोमीटर दूर एक कुएं से पीने का पानी लाती हूं। तब जाकर उनकी प्यास बुझती है।

इधर, गांव में पार्टी के कार्यक्रम से पहुंचे झामुमो के गारू प्रखंड अध्यक्ष तौकीर मिया उर्फ ​​मंटू मिया और जिला मीडिया प्रभारी उमेश प्रसाद ने भी इस समस्या पर चिंता व्यक्त की है। आंगनबाडी केंद्र की हालत देखकर तौकीर मिया ने कड़ी नाराजगी जताई है।

उन्होंने कहा कि आंगनबाडी केंद्र में छोटे बच्चे पढ़ाई के लिए आते हैं। लेकिन इस आंगनबाडी केंद्र का भवन पूरी तरह जर्जर हो चुका है। आखिर क्यों बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ किया जा रहा है? तौकीर मियां ने आंगनबाडी केंद्र के जर्जर भवन की मरम्मत करते हुए गारू प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रताप टोप्पो व डीसी अबु इमरान से केंद्र में पानी की समुचित व्यवस्था की मांग की है।

इधर जिला मीडिया प्रभारी उमेश प्रसाद ने भी इस समस्या को गंभीर बताते हुए डीसी से सीडीपीओ पर कार्रवाई कर शुद्ध पेयजल की व्यवस्था कराने की मांग की है।

ग्राम प्रधान मोदी सिंह ने बताया कि यह बहुत पुरानी समस्या है, गांव के ग्रामीणों ने इसकी लिखित शिकायत कई बार की है और पेयजल सुविधा की मांग की है। लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। गर्मी दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है। अगर तत्काल प्रशासन इसे गंभीरता से लेता है और पीने के पानी की सुविधा बहाल करता है, तो बच्चों के साथ-साथ ग्रामीणों को भी इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *