Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

पीसीसी निर्माण कार्य में अनियमितता का मामला उजागर, झामुमो प्रखंड अध्यक्ष ने की जांच की मांग

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार ज़िले के गारू प्रखंड कार्यालय परिसर में अनियमितता का मामला उजागर हुआ है। मुख्य सड़क से कार्यालय के गेट तक पीसीसी पथ का निर्माण कार्य कराया गया है। उक्त कार्य बगैर योजना बोर्ड लगाये आनन फानन में रविवार को कराया गया है।

योजना की प्राकलित राशि और लाभुक समिति का जानकारी नहीं मिल पा रहा है। नियमों के ताख पर रखकर काम होते देख किसी जागरूक व्यक्ति ने काम होने के दौरान वीडियो बनाया है। जिसके बाद इस मामले का खुलासा हो सकता है।

वीडियो में साफ दिख रहा है कि जन सेवक श्याम सुन्दर पाण्डेय, सहायक अभियंता सुधीर कुमार रवि और कार्यालय के कंप्यूटर ऑपरेटर संतोष कुमार मौजूद है। उक्त सभी कर्मचारी मजदूरों को काम के लिए कई तरह के निर्देश दे रहे है। लेकिन नियमों को ताख पर रखकर बगैर सॉलिंग किए मटेरियल बिछाया जा रहा था और सभी कर्मचारी गवाह के तौर खड़े नजर आ रहे है।

बहरहाल अनियमितता का मामला यही तक खत्म नही होता है। बल्कि किस मद से कार्य किया जा रहा है इसका बोर्ड तक नहीं लगाया गया है। हालांकि प्रखंड कार्यालय परिसर में अनियमितता अधिकारीयों की कमीशन खोरी का जीता जगता उदाहरण है। प्राप्त विडिओ के माध्यम से प्रतीत होता है कि सहायक अभियंता की निगरानी में कार्य हो रहा है।

यदि अधिकारी अपनी नाक के नीचे ही नियमानुसार कार्य नहीं करा सकते तो सपूर्ण प्रखंड क्षेत्र में विकास की कल्पना आप खुद कर सकते हैं।

इधर गारू प्रखंड के जेएमएम प्रखंड अध्यक्ष मंटू मिया ने भी इस मामले को लेकर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने कहा मामले की जानकारी मिली है। प्रखंड कार्यालय परिसर में अनियमितता का जो मामला सामने आया है, वह काफी चिंता का विषय है। अगर प्रखंड कार्यालय का ये हाल है तो बाकी अन्य जगह पर संचालित विकास कार्यो की गुणवत्ता का अंदाजा लगाया जा सकता है।

उन्होंने कहा मैं लातेहार डीसी अबु इमरान, गारू प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रताप टोप्पो एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों से मांग करता हूं कि इस मामले की तत्काल जांच करते हुए दोषी पदाधिकारियों पर कार्यवाइ करें।

वही बीस सूत्री अध्यक्ष कमरुद्दीन खलीफा नें भी प्रखंड विकास पदाधिकारी से शिकायत कर करवाई की मांग करने की बात कही है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *