Breaking :
||घास काटने गयी 50 वर्षीय महिला के साथ पुलिसकर्मियों ने की हैवानियत, गैंगरेप के बाद गुप्तांग पर पैरों से हमला||लातेहार: कठपुलिया लूट का चंद घंटों में खुलासा, चार लुटेरे हथियार व सामान के साथ गिरफ्तार||दुमका में फिर सनकी प्रेमी ने युवती को जिंदा जलाया, रिम्स पहुंचने से पहले हुई मौत||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख

बरवाडीह में बंद केंदू पत्ता खलिहान शुरू करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

'

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड क्षेत्र के पलामू व्याघ्र परियोजना अंतर्गत आने वाले वन क्षेत्रों में लंबे समय से केंदू पत्ते की तुड़ाई बंद है। जिसके कारण प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत लगभग 2000 से अधिक निबंधित मजदूर पत्ते की तुड़ाई नहीं होने के कारण बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं।

इसे लेकर प्रखण्ड की महिला समाजसेवी सन्तोषी शेखर ने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, स्थानीय विधायक और नेता प्रतिपक्ष को पत्र लिखकर वन प्रमंडल अंतर्गत आने वाले प्रखंड क्षेत्र के 14 खलिहानों को शुरू करने की अनुमति देने की मांग की है।

सन्तोषी शेखर ने बताया कि केंदू पत्ता की तुड़ाई कर जहां स्थानीय मजदूर काफी खुशहाल रहते थे। इस कार्य से we लगभग 6 महीने तक के जीवन यापन करने की राशि जमा कर लेते थे। शादी विवाह जैसे पारिवारिक कार्यक्रम को लेकर भी रकम जमा कर लेते थे।

लेकिन दुर्भाग्य से जिस पत्ते की तुड़ाई से वन क्षेत्र को कोई नुकसान नहीं उन पत्तों की तुड़ाई पर रोक लगाकर मजदूरों को पलायन करने पर मजबूर कर दिया गया है। जिस पर स्थानीय जनप्रतिनिधि और सरकार को मजदूरों के हित में ध्यान देते हुए सकारात्मक फैसला लेकर तुड़ाई की अनुमति दी जानी चाहिए।

ताकि प्रखंड क्षेत्र के कुटमु, सरईडीह, कचनपुर, पोखरी खुर्द, कोलपुरवा, बरवाडीह, लुहुर, बभंडी, ततहा, मंडल, सिधोरवा, लेदगाई, होरीलोग, पैरा में केंदु पत्ते के तुड़ाई औऱ संग्रह का काम शुरू हो औऱ सैकड़ो मजदूरों के जीवन स्तर में सुधार हो सके।


Leave a Reply

Your email address will not be published.