Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

बिजली विभाग की मनमानी को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश, किया प्रदर्शन

'

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के मनिका प्रखंड अंतर्गत जुंगुर पंचायत भवन में मुखिया पति गुलाब उरांव और सामाजिक कार्यकर्ता देवेंद्र कुमार कुजूर की अध्यक्षता में डबल, ट्रिपल कनेक्शन और मनमाने बिजली बिल के खिलाफ सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण एकजुट हुए।

मौके पर गुलाब उरांव ने कहा कि बिजली विभाग के द्वारा जुंगुर पंचायत के सभी गांवों में एक ही व्यक्ति का डबल और ट्रिपल बिजली का कनेक्शन दे दिया गया है और मनमाने तरीके से बिजली बिल भेजी जा रही है।

उन्होंने कहा कि पहले तो बीपीएल कार्ड और आधार कार्ड के माध्यम से बिजली विभाग ने डबल कनेक्शन दे दिया और दोनों का बिजली बिल भेजकर लोगों को परेशान कर रही है। आक्रोशित ग्रामीणों ने कहा कि अगर जल्द ही इस मश्ले का समाधान नही होता है तो प्रखंड कार्यालय का घेराव करेंगे।

सामाजिक कार्यकर्ता देवेंद्र कुमार कुजूर ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि बिजली विभाग ग्रामीणों के साथ शोषण कर रही है।लोग मानसिक प्रताड़ना के शिकार हो रहे हैं।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने बिजली विभाग की शिकायत विभाग के वरीय अधिकारियों से की है। परन्तु कुछ भी सुनवाई नहीं हुई। लिहाज़ा आक्रोशित ग्रामीणों ने सर्वसम्मति से प्रखंड कार्यालय घेराव का निर्णय लिया है.

मौके पर गुलाब यादव, नरेश राम, संदीप उरांव, संतोष उरांव, हबीब अंसारी समेत सैकड़ों ग्रामीण जनता मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.