Breaking :
||पलामू: नाबालिग दिव्यांग युवती से दुष्कर्म, मामला दर्ज||राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का किडनी ट्रांसप्लांट सफल, देखें बेटे तेजस्वी द्वारा शेयर किया वीडियो||गैंगस्टर गोपाल शार्क शूटर के नाम से पोस्टर चस्पा कर रंगदारी मांगने के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़ा, हथियार बरामद||गुमला की लड़की को लातेहार के लड़के से Facebook पर हुआ प्यार, शादी का झांसा देकर किया यौन शोषण, रूपये भी ठगे||आंखों के इलाज के लिए विनीत को मिली विधायक निधि से 50 हजार की मदद, विनीत ने जताया विधायक के प्रति आभार||लातेहार: सुधा सिन्हा स्कूल के डायरेक्टर के घर पर अज्ञात अपराधियों ने किया हमला, दी जान से मारने की धमकी||रांची: उड़ान IAS अकादमी के डायरेक्टर अरुण अग्रवाल पर जानलेवा हमला, लातेहार अम्बाकोठी के हैं निवासी||सीएम हेमंत सोरेन की नहीं होगी गिरफ्तारी, ईडी के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं||झारखंड से कोरोना की विदाई, सभी जिले कोरोना मुक्त घोषित||झारखंड: प्रमाण पत्र सत्यापन नहीं कराने वाले सहायक अध्यापक होंगे कार्यमुक्त

बरवाडीह से 20 श्रद्धालुओं का जत्था माता वैष्णो देवी दरबार के लिए रवाना

बरवाडीह जत्था वैष्णो देवी

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड के केचकी पंचायत के सरइडीह औऱ पोखरीकला पंचायत से सोमवार को 20 श्रद्धालुओं का जत्था माता वैष्णो देवी दरबार के लिए टाटा जम्मू तवी एक्सप्रेस से रवाना हुआ।

रवाना होने के पूर्व जत्थे में शामिल सभी श्रद्धालुओं ने प्रखंड के प्रसिद्ध पर्यटन और धार्मिक स्थल के रूप में विख्यात सरईडीह शिव मंदिर में पूजा अर्चना की। जिसके बाद जत्थे में शामिल हीरालाल प्रसाद ,अन्ति देवी , सरजू साव , प्रमिला देवी , सुरेश प्रसाद , दिलीप प्रसाद , सुनैना देवी , रमेश सोनी , प्रेम सागर सिंह , लवकुश सोनी , निर्मला देवी , मुनिब सोनी उषा देवी , अखिलेश्वर प्रसाद ,गोरी देवी , प्रभा देवी , दशरथ प्रसाद , समेत अन्य लोगों को प्रखंड की महिला समाजसेवी और अपना अधिकार अपना सम्मान मंच के सचिव संतोषी शेखर, मंदिर समिति के अध्यक्ष जोखन प्रसाद , ग्राम प्रधान रामनाथ साव ,नमो एप लोकसभा सयोंजक दिलीप सिंह यादव मंदिर पुजारी श्याम नाथ पाठक समेत अन्य प्रबुद्ध लोगों के द्वारा सभी माता वैष्णो देवी के तीर्थ पर जाने वाले श्रद्धालुओं को सम्मानित करते हुए विदा किया गया।

इस दौरान सन्तोषी शेखर ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र के केचकी औऱ पोखरीकला पंचायत सम्मानित ग्रामीणों का धर्म और धर्म के केंद्र के रूप में प्रचार भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के प्रति लोगों की सच्ची श्रद्धा और भावना अपने आप में अनुकरणीय है। जिससे हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए। क्यो की हम सभी को अपने धर्म और धर्म की रक्षा करने के लिए आगे आने के साथ-साथ अपनी आने वाली पीढ़ी को इसके प्रति जागरूक करना चाहिए जो काम यहां के लोगों के द्वारा लगातार किया जा रहा है।

बरवाडीह जत्था वैष्णो देवी


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *