Breaking :
||पाकुड़ में करंट लगने से बाप-बेटे की मौत, बेटे को बचाने में गयी पिता की जान||झारखंड में IAS अधिकारियों का तबादला, केके सोन को परिवहन विभाग का अतिरिक्त प्रभार||बूढ़ा पहाड़ पहुंचे CRPF के DG कुलदीप सिंह, जवानों का बढ़ाया हौसला||वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया JJMP कमांडर, लातेहार, रामगढ़ और रांची इलाके में था सक्रिय||शर्मनाक: पुलिस कर्मी पर जानवर से दुष्कर्म का आरोप, ग्रामीणों ने की मारपीट, आरोपी जवान निलंबित||BREAKING: पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में घायल सीआरपीएफ जवान की इलाज के दौरान मौत||15 लाख का इनामी माओवादी कमांडर विनय यादव गिरफ्तार, पलामू, लातेहार, गढ़वा व चतरा में हुए कई नक्सली हमलों में था शामिल||पलामू: अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत, एक गंभीर||नहीं रहे कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव, दिल्ली एम्स में निधन, हार गए जिंदगी की जंग||बालूमाथ में राजद नेता पर जानलेवा हमला, गंभीर हालत में रिम्स रेफर

रांची में टीपीसी उग्रवादी भीखन गंझू समेत दो गिरफ्तार, 10 लाख का था इनामी, NIA को थी तलाश

'

रांची : एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर रांची पुलिस की टीम ने 17 मार्च को सदर थाना क्षेत्र के ढेलटोली में छापेमारी की। छापेमारी में 10 लाख के इनामी टीपीसी उग्रवादी भीखन गंझू और राहुल मुंडा को लेवी की राशि के साथ गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार उग्रवादी पर चतरा जिले के पिपरवार, टंडवा, लवलोंग और पत्थलगड़ा, जबकि रांची जिले के खलारी, बुढ़मू, मैक्लुस्कीगंज और कांके पुलिस थानों में कुल 26 मामले दर्ज हैं। भीखन गंझू झारखंड पुलिस के साथ-साथ एनआईए के राडार पर आतंकी फंडिंग और विदेशी हथियारों की तस्करी में था। एनआईए ने भीखन को मोस्ट वांटेड घोषित किया था।

पुलिस ने उसके पास से 12.32 लाख रुपये लेवी, सात मोबाइल, दो राउटर, टीपीसी का लेटर पैड, एक लैपटॉप और कई अन्य सामान बरामद किया है। एनआईए भीखन को भी रिमांड पर लेगी और 13 फंडिंग हथियारों की तस्करी और कई अन्य मामलों से पूछताछ करेगी। ऐसे में कई बड़े नाम सामने आने की संभावना है।

चतरा जिले के पिपरवार थाना क्षेत्र में रहने वाला टीपीसी का आतंकी भीखन गंझू एनआईए की रडार पर था। एनआईए ने भीखन गंझू पर आतंकी फंडिंग के मामले में केस दर्ज किया है। एनआईए को मगध आमपराली कोयला परियोजना में आतंकी फंडिंग, उग्रवादी परमेश्वर गंझू से लेवी राशि की बरामदगी और पूर्णिया हथियार रैकेट मामले में भीखनकी तलाश थी।

भीखन गंझू सीसीएल कर्मचारी है। जबकि उग्रवादी संगठन में कमांडर है। पिपरवार के अशोका, टंडवा के मगध-आम्रपाली प्रोजेक्ट में टेरर फंडिंग के मामले में एनआईए ने चार्जशीट दाखिल की है। जबकि एनआईए ने नागालैंड से हथियारों की तस्करी में भीखन पर चार्जशीट भी दाखिल की है। इन मामलों में वह फरार था। मोस्ट वांटेड होने के बावजूद वह इन दिनों कोयले के कारोबार में सक्रिय था। हाल ही में टंडवा में आगजनी की घटना में भीखन का नाम भी सामने आया था।


Leave a Reply

Your email address will not be published.