Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

रांची में टीपीसी उग्रवादी भीखन गंझू समेत दो गिरफ्तार, 10 लाख का था इनामी, NIA को थी तलाश

रांची : एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर रांची पुलिस की टीम ने 17 मार्च को सदर थाना क्षेत्र के ढेलटोली में छापेमारी की। छापेमारी में 10 लाख के इनामी टीपीसी उग्रवादी भीखन गंझू और राहुल मुंडा को लेवी की राशि के साथ गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार उग्रवादी पर चतरा जिले के पिपरवार, टंडवा, लवलोंग और पत्थलगड़ा, जबकि रांची जिले के खलारी, बुढ़मू, मैक्लुस्कीगंज और कांके पुलिस थानों में कुल 26 मामले दर्ज हैं। भीखन गंझू झारखंड पुलिस के साथ-साथ एनआईए के राडार पर आतंकी फंडिंग और विदेशी हथियारों की तस्करी में था। एनआईए ने भीखन को मोस्ट वांटेड घोषित किया था।

पुलिस ने उसके पास से 12.32 लाख रुपये लेवी, सात मोबाइल, दो राउटर, टीपीसी का लेटर पैड, एक लैपटॉप और कई अन्य सामान बरामद किया है। एनआईए भीखन को भी रिमांड पर लेगी और 13 फंडिंग हथियारों की तस्करी और कई अन्य मामलों से पूछताछ करेगी। ऐसे में कई बड़े नाम सामने आने की संभावना है।

चतरा जिले के पिपरवार थाना क्षेत्र में रहने वाला टीपीसी का आतंकी भीखन गंझू एनआईए की रडार पर था। एनआईए ने भीखन गंझू पर आतंकी फंडिंग के मामले में केस दर्ज किया है। एनआईए को मगध आमपराली कोयला परियोजना में आतंकी फंडिंग, उग्रवादी परमेश्वर गंझू से लेवी राशि की बरामदगी और पूर्णिया हथियार रैकेट मामले में भीखनकी तलाश थी।

भीखन गंझू सीसीएल कर्मचारी है। जबकि उग्रवादी संगठन में कमांडर है। पिपरवार के अशोका, टंडवा के मगध-आम्रपाली प्रोजेक्ट में टेरर फंडिंग के मामले में एनआईए ने चार्जशीट दाखिल की है। जबकि एनआईए ने नागालैंड से हथियारों की तस्करी में भीखन पर चार्जशीट भी दाखिल की है। इन मामलों में वह फरार था। मोस्ट वांटेड होने के बावजूद वह इन दिनों कोयले के कारोबार में सक्रिय था। हाल ही में टंडवा में आगजनी की घटना में भीखन का नाम भी सामने आया था।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *