Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
झारखंडलोहरदगा

लोहरदगा में फिर तनाव, मंदिर में बज रहे लाउडस्पीकर को जबरन कराया बंद, भारी संख्या में पुलिस बल तैनात

लोहरदगा जिले में फिर हुआ तनाव । रामनवमी शोभा यात्रा पर हुए पथराव और आगजनी की घटना के बाद से इस तरह की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा ऐसी घटनाएं रोकने की कोशिशों के बावजूद हो रही है, जिससे कि पुलिस प्रशासन परेशान है।

जानकारी के अनुसार बुधवार रात सेन्हा थाना क्षेत्र के अरु गांव के बस्ती के शिव मंदिर में बज रहे लाउडस्पीकर को एक समुदाय विशेष के कुछ लोगों ने लाउडस्पीकर को बंद करा दिया। उन्होंने कहा कि अगर लाउडस्पीकर बंद नहीं करता है तो युवकों को मंदिर से बाहर लाया जाए। जब यह बात फैली तो माहौल खराब होने लगा। इसकी सूचना ग्रामीणों ने तुरंत पुलिस को दे दी।

इसे भी पढ़ें :- हेमंत सरकार ने राज्य कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के महंगाई भत्ते में की 3 फीसदी की बढ़ोतरी, जल्द होगी घोषणा

सूचना मिलने ही डीएसपी परमेश्वर प्रसाद मौके पर पहुंचे और माहौल को शांत कराया। इसी बीच कुछ ग्रामीण भी पहुंचे और इस तरह की गलती पर नाराजगी जताई। बावजूद इस घटना के बाद जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है। लोहरदगा एसपी आर रामकुमार ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि इस घटना के बाद उस क्षेत्र में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। उन्होंने कहा कि अभी माहौल पूरी तरह से शांत है। इस घटना के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट पर है।

इस घटना से जिलेवासियों में भय का माहौल है। इधर इस तरह की घटना के बाद खराब माहौल को शांत करने के लिए गुरुवार को अरु गांव में शांति समिति की बैठक बुलाई गई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

लोहरदगा में फिर तनाव