Breaking :
||झारखंड के 248 पारा शिक्षक गायब, 232 ने छोड़ी नौकरी, 5 दिसंबर तक मिला मौका||झारखंड में छह साल से नहीं हुई जेटेट परीक्षा, हाईकोर्ट में याचिका दायर||मुख्यमंत्री के प्रेस सलाहकार समेत चार के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी||मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत||लातेहार: बालूमाथ में कोयला कारोबारियों से व्हाट्सएप कॉल कर रंगदारी मांगने वाला TSPC का एरिया कमांडर गिरफ्तार, भेजा जेल||हेमंत सरकार तीन वर्ष पूरे होने पर सुखाड़ प्रभावित 22 जिलों के किसानों को देगी तोहफा, आवेदन शुरू||झारखंड: ऑनलाइन गेम में मिली हार से परेशान बच्चे ने कर ली खुदकुशी, माता-पिता हो जायें सावधान!||पलामू में नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की धमकी देकर किया शारीरिक शोषण||बूढ़ा पहाड़ से फिर मिले 12 केन IED बम, किया गया नष्ट||सीओ हेमा प्रसाद व अन्य के खिलाफ होगी ACB जांच, सीएम हेमंत सोरेन ने दी मंजूरी

गुमला: दामाद ने कर दी कुल्हाड़ी से काटकर ससुर की हत्या

गुमला : जिले के बिशुनपुर थाना अंतर्गत केचकी डाड़टोली निवासी फगुआ उरांव (60) की उसके चचेरे दामाद सीताराम उरांव ने कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी। घटना की सूचना मिलने पर शनिवार की सुबह थानेदार सदानंद सिंह गांव पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर आरोपी दामाद सीताराम को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी सीताराम ने पुलिस को बताया कि उसने फगुआ उरांव को क्यों मारा। उसने पुलिस को बताया कि वह घर जमाई है। शुक्रवार शाम करीब 4 बजे फगुआ मेरे घर आया था। हमने साथ में शराब पीना शुरू कर दिया। तब उन्होंने मुझसे कहा कि तुम यहां जमीन हड़पने के मकसद से दामाद बनकर रह रहे हो।

मैंने कहा कि मेरा ऐसा कोई इरादा नहीं है। मेरे अपने ससुराल वाले ऐसा कुछ नहीं कहते। वह इस बात पर अड़ा हुआ था। कहने लगा कि ऐसा नहीं है तो तुम अपनी पत्नी को लेकर चले जाओ। उसकी इस बात पर मुझे गुस्सा आ गया और मैंने उसे अपने घर से निकल जाने को कह दिया।

सीताराम ने कहा कि फगुआ उरांव मेरे घर से चला गया। लेकिन, मेरा गुस्सा कम नहीं हो रहा था। गुस्से में मैं घर गया और कुल्हाड़ी लेकर बाहर आ गया। फगुआ मेरे घर से कुछ दूर पहुंचा ही था कि मैंने गुस्से में उस पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। इससे उसकी मौत हो गयी।

इस संबंध में थानेदार सदानंद सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया मामला जमीन विवाद का लग रहा है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पूछताछ के बाद ही मामला स्पष्ट हो पाएगा।