Breaking :
||घास काटने गयी 50 वर्षीय महिला के साथ पुलिसकर्मियों ने की हैवानियत, गैंगरेप के बाद गुप्तांग पर पैरों से हमला||लातेहार: कठपुलिया लूट का चंद घंटों में खुलासा, चार लुटेरे हथियार व सामान के साथ गिरफ्तार||दुमका में फिर सनकी प्रेमी ने युवती को जिंदा जलाया, रिम्स पहुंचने से पहले हुई मौत||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख

जेएमएम और कांग्रेस में फूट के संकेत ! जानिए स्वास्थ्य मंत्री बनना गुप्ता ने क्या कहा ?

'

JMM-Congress Split

हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अच्छा होगा की वो मंत्री मंडल से ही इस्तीफा दे दें

कांग्रेस के चिंतन शिविर ने एक तरह से हेमंत सरकार को सीधे तौर पर चिंता में ला खड़ा कर दिया है. चिंतन शिविर में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अपने ही सरकार पर हमलावर हो गए. उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार झारखंड में कांग्रेस के वजूद को खत्म करने पर तुली हुई है. बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री ने ये बातें कांग्रेस के चिंतन शिविर के अंतिम दिन हिंदी भाषा को लेकर कही. उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार देश के मातृ भाषा हिंदी को हीं राज्य के रीजनल सूची से हटाने को लेकर निर्णय लेने वाली है. यदि सरकार ऐसा करती है तो सीधे तौर पर कांग्रेस का वजूद राज्य में खत्म हो जाएगा.

उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा को लेकर हेमंत सरकार जो फैसला लेने वाली है, उसके कारण झारखंड में कांग्रेस का अस्तित्व खत्म होना तय है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब पार्टी ही नही बचती है तो फिर उनके हेमंत सरकार में उनके रहने का कोई औचित्य हीं नहीं है. स्वास्थ मंत्री बन्ना गुप्ता ने चिंतन शिविर के दौरान कांग्रेस के राज्य प्रभारी समेत 147 प्रतिनिधि के बीच हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अच्छा होगा की वो मंत्री मंडल से ही इस्तीफा दे दें, क्योंकि जब हेमंत सरकार कांग्रेस के अस्तित्व को खत्म करने को लेकर उतारू है तो सरकार में रहना उनके लिए संभव नहीं. उन्होंने कहा कि हमें ये तय करना होगा कि हमारा सिद्धांत और विचारधारा कभी कमजोर न हो. राष्ट्रभाषा के साथ और जनता के सम्मान के साथ कभी समझौता नहीं किया जा सकता.

शिविर के संबोधन के दौरान स्वास्थ मंत्री ने अपने विधानसभा का हवाला देते हुए कहा की उन्होंने मेहनत के बाद अपने विधानसभा जमशेदपुर से एक लाख वोट हासिल कर चुनाव जीता है. इसी वोटर को हेमंत सरकार ऐसे फैसले लेकर कांग्रेस के वोटर को अपने तरफ खींचने में लगी हुई है.

JMM-Congress Split

Image source – twitter


Leave a Reply

Your email address will not be published.