Breaking :
||अब झारखंड के सरकारी स्कूलों में हर महीने के तीसरे शनिवार को रहेगी छुट्टी||बिहार: सीएम नीतीश ने दिया इस्तीफा, राजद के साथ सरकार बनाने का दावा||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी

इनामी माओवादी ने पुलिस के सामने किया सरेंडर, पत्नी और तीन मासूम बच्चों के प्यार ने किया मजबूर

'

रांची: खूंटी में हार्डकोर इनामी नक्सली ने सरेंडर कर दिया है। भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर विमल लोहरा उर्फ ​​बिरसा पाहन उर्फ ​​कोका (39 वर्ष) ने खूंटी पुलिस के समक्ष सरेंडर कर दिया। खूंटी के उपायुक्त शशि रंजन और एसपी आशुतोष शेखर ने मुख्य धारा में शामिल होने वाले नक्सली को माला पहनाकर स्वागत किया। नक्सली विमल लोहरा उर्फ ​​बिरसा उर्फ ​​कोका अड़की थाना क्षेत्र के रायतोडांग निवासी सुंदर पाहन का पुत्र है।

पत्नी और तीन मासूम बच्चों के प्यार में आकर किया सरेंडर

पत्नी और तीन बच्चों के प्यार ने एक कुख्यात नक्सली को मुख्यधारा में शामिल होने पर मजबूर कर दिया। 11 साल के बेटे और साढ़े सात साल व डेढ़ साल की दो मासूम बेटियों ने पत्थर दिल नक्सली को मोम बना दिया। कई लोगों की हत्या करने वाले खूंटी जिले के नक्सली ने आज अपनी बेटियों के प्यार के चलते सरेंडर कर दिया है।

सिद्धांतों से भटक गए हैं माओवादी

पुलिस को दिए बयान में विमल लोहरा ने कहा कि वर्तमान में माओवादियों के शीर्ष नेता अपने सिद्धांतों से भटक गए हैं। भाकपा-माओवादी संगठन शोषण और लेवी वसूली की पार्टी बन गया है। भाकपा-माओवादी के शीर्ष कमांडर निचले वर्ग के कमांडरों और महिलाओं का शोषण करते हैं और सिद्धांतों के विपरीत कार्य करते हैं। शीर्ष माओवादी नेता ग्रामीणों को बेवजह परेशान कर रहे हैं और दबाव बना रहे हैं।

सरकार की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति से हुआ प्रभावित

इसी कारण भाकपा-माओवादी संगठन को छोड़कर झारखंड सरकार की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति से प्रभावित होकर अपने परिवार के साथ सामान्य जीवन जीने के लिए पुलिस के सामने सरेंडर कर रहा हूं।

विमल पर हैं एक दर्जन मामले दर्ज

एरिया कमांडर विमल लोहरा 2015 से नक्सली गतिविधियों में शामिल था। विमल लोहरा के खिलाफ खूंटी जिले के अड़की, मुरहू और साइको थाने में दर्जन भर मामले दर्ज हैं। अड़की थाने में कुल आठ, मुरहू थाने में तीन और साइको थाने में एक मामला दर्ज है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.