Breaking :
||झारखंड में धूमधाम से मनाया गया प्रकृति का पर्व सरहुल, निकाली गयी भव्य शोभायात्रा||झारखंड: सुरक्षाबलों के दबिश का परिणाम, दो महिला नक्सली समेत 15 माओवादियों ने एक साथ किया सरेंडर||पलामू: प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या, शव फंदे से लटकाया!||चतरा: TSPC के उग्रवादियों ने बालू माफियाओं को अवैध खनन बंद करने की दी चेतावनी||पलामू में दो मादक पदार्थ तस्करों को 10-10 साल सश्रम कारावास की सजा, एक-एक लाख रुपये का जुर्माना||पलामू में अवैध शराब की खेप के साथ तस्कर गिरफ्तार, बिहार में खपाने की थी तैयारी, कार जब्त||शहरी जलापूर्ति योजना से 20 करोड़ रुपये गबन करने का आरोपी PHED कर्मचारी गिरफ्तार||लातेहार: आगामी त्योहारों के दौरान बिजली संबंधी समस्याओं एवं आपात स्थिति से निपटने के लिए मोबाइल नंबर जारी||सांप्रदायिक सौहार्द्र में खलल डालने वाले तत्वों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई, DJ संचालकों से भरवाये जायेंगे बांड||झामुमो ने राजमहल और सिंहभूम लोकसभा सीट से उतारे उम्मीदवार
Friday, April 12, 2024
झारखंडरांची

झारखंड में मॉनसून के आगे बढ़ने का सिलसिला जारी, तीन दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट

रांची : झारखंड में मानसून के आगमन के साथ ही झमाझम बारिश शुरू हो गयी है। संताल परगना के विभिन्न जिलों में बारिश से अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गयी है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगमन का सिलसिला जारी है। अगले दो से तीन दिनों में राज्य के अधिकांश हिस्सों में इसके स्थापित होने की संभावना है। इस प्रक्रिया में प्रदेश में 20 से 22 जून के दौरान मध्यम से तेज गर्जन व आंधी के साथ आकाशीय बिजली गिरने की प्रबल संभावना है।

तीन दिन के लिए ऑरेंज अलर्ट

मौसम विभाग की ओर से 20 से 22 जून के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। रांची स्थित भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मौसम विज्ञानी अभिषेक आनंद ने बताया कि गर्मी के बाद जब भी बारिश शुरू होती है, पहले कुछ दिनों में बादलों की गर्जना और बिजली गिरने की संभावना ज्यादा होती है। इस दौरान कई बार तेज आंधी का भी सामना करना पड़ता है। मौसम विभाग ने गर्जन और बिजली गिरने की तत्काल चेतावनी प्राप्त करने के लिए दामिनी और सचेत ऐप का उपयोग करने की सलाह दी है।

मसानजोर में सबसे ज्यादा 73 मिमी बारिश

पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश के कुछ स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश हुई। जबकि एक-दो स्थानों पर तेज बारिश भी दर्ज की गयी। इस दौरान सबसे अधिक 73 मिमी बारिश दुमका के मसानजोर में हुई। जबकि डाल्टनगंज में सबसे ज्यादा तापमान 44.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

अब तक सामान्य से 85 फीसदी कम बारिश

इस साल, मानसून ने केरल तट पर देरी से शुरुआत की है। इस वजह से झारखंड में भी मानसून के आने में चार से पांच दिन की देरी हुई। इससे एक जून से 19 जून तक सामान्य से करीब 75 फीसदी कम बारिश हुई है। गढ़वा में अभी बारिश शुरू नहीं हुई है, जबकि गिरिडीह, हजारीबाग कोडरमा, बोकारो, चतरा और लातेहार में भी 0 से 5 मिमी तक बारिश हुई है।