Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

आपस में भिड़े DSP और SP, जमकर हुआ बवाल

'

Gumla DSP and SP

झारखंड में अक्सर पुलिस अधिकारियों के बीच तकरार की खबरें सुनने को मिलती हैं। एक बार फिर ऐसा ही मामला सामने आया है। जिसमें गुमला जिले के एसपी व मुख्यालय डीएसपी के बीच खींचतान का मामला सामने आ रहा है। हालांकि, दोनों अधिकारियों ने ऐसी किसी भी घटना से इनकार किया है। गुमला जिले में एसपी और हेडक्वार्टर डीएसपी के बीच जमकर गाली गलौज हुई. स्थिति मारपीट तक पहुंच गयी।

क्या है पूरा मामला :

प्राप्त जानकारी के अनुसार गुमला एसपी ने रविवार को डीएसपी प्राण रंजन को किसी अन्य क्षेत्र में ड्यूटी करने का आदेश दिया था। इस संबंध में डीएसपी प्राण रंजन ने गुमला एसपी से लिखित आदेश जारी करने का निवेदन किया । इसके बाद मामला बिगड़ गया। डीएसपी द्वारा लिखित आदेश मांगने के मामले में एसपी ने फोन पर ही अभद्र तरीके से बात की और गाली-गलौज भी की।

एसपी के अभद्र व्यवहार से नाराज डीएसपी प्राण रंजन एसपी के आवासीय कार्यालय पहुंचे। वहां काफी हंगामा हुआ। इस दौरान मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों के द्वारा मामले को संभालने की कोशिश की गयी ।

इस मामले को लेकर झारखंड पुलिस डीएसपी एसोसिएशन में भारी नाराजगी है। डीएसपी स्तर के एक अधिकारी ने एसोसिएशन के समूह को सूचित किया है कि एसपी गुमला ने डीएसपी मुख्यालय प्राण रंजन के साथ दुर्व्यवहार किया है. इस पर एक अन्य डीएसपी ने लिखा है कि इस एक्ट का कड़ा विरोध किया जाना चाहिए। स्वाभिमान से कोई समझौता नहीं होगा। इस पर बिना किसी देरी के एसोसिएशन द्वारा कार्रवाई की जानी चाहिए।

वहीँ एसपी डॉ एहतेशाम वकारिब ने इस तरह की कोई घटना होने से इनकार किया. गुमला के एसपी ने बताया कि उन्होंने रविवार को डीएसपी प्राण रंजन का चेहरा तक नहीं देखा है। ये बातें महज अफवाह हैं ।

दूसरी तरफ डीएसपी प्राण रंजन भी इस घटना से साफ इनकार कर रहे हैं. प्राण रंजन ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है, अगर कोई इस बारे में बता रहा है तो आप उससे पूछ लें।

इस घटना के बाद पुलिस मुख्यालय भी सचेत हो गयी है। पूरे मामले में पुलिस के आला अधिकारियों से रिपोर्ट ली जा रही है।

Gumla DSP and SP


Leave a Reply

Your email address will not be published.