Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
झारखंडरांची

झारखंड: विश्वविद्यालयों में घंटी आधारित पढ़ाने वाले सहायक प्राध्यापकों की कार्यकाल बढ़ाने के निर्देश

रांची : झारखण्ड उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग की निदेशक गरिमा सिंह ने घंटी आधारित सहायक प्राध्यापकों का कार्यकाल बढ़ाने के निर्देश जारी किये हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विभाग की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि विश्वविद्यालयों और अंगीभूत महाविद्यालयों के स्नातकोत्तर में पढ़ाने वाले घंटी आधारित सहायक प्राध्यापकों की कार्य अवधि बढ़ायी जाये। इसके लिए झारखंड के सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश दे दिये गये हैं।

2 मार्च 2017 को विश्वविद्यालयों में घंटी आधारित शिक्षकों की बहाली हुई थी। इसके बाद 29 सितंबर 2022 को कार्यकाल 31 मार्च 2023 तक बढ़ा दिया गया था।