Breaking :
||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी||गढ़वा: पड़ोसी युवक के साथ भागी दो बच्चों की मां, बंधक बनाकर पीटा||भूख हड़ताल पर बैठे पारा मेडिकल कर्मियों की तबीयत बिगड़ी, भेजा अस्पताल||Good News: झारखंड में मरीजों के लिए जल्द शुरू होगी एयर एंबुलेंस की सुविधा, मुख्यमंत्री ने किया ऐलान||लातेहार: मनिका बालक मध्य विद्यालय में हुई चोरी मामले का खुलासा, तीन गिरफ्तार, चोरी का सामान बरामद||चतरा में सुरक्षाबलों से नक्सलियों की मुठभेड़, एक नक्सली ढेर, देखें तस्वीर||झारखंड: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो गुटों में हिंसक झड़प, दर्जनों लोग घायल, तनाव||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत

दुमका में अवैध मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा, एक महिला समेत छह गिरफ्तार, सरगना की तलाश, बिहार से जुड़ा है तार

दुमका में मिनी गैन फैक्ट्री

दुमका : आसनसोल लोकसभा उपचुनाव और बीरभूम हत्याकांड के बाद राज्य पुलिस ने हथियारों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। इस अभियान के तहत कोलकाता एसटीएफ ने पश्चिम बंगाल से सटे झारखंड के दुमका जिले में मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है।

स्थानीय पुलिस की मदद से एक अर्ध-निर्मित हथियार के साथ एक बंदूक बनाने वाली मशीन भी बरामद की गई है। मौके से एक महिला समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इस कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंच गई है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल के अलग-अलग जिलों से लगातार हथियार बरामद किए जा रहे हैं और इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।

कोलकाता की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने झारखंड के दुमका के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरुवा गांव में स्थानीय पुलिस की मदद से दो मंजिला मकान से एक अर्धनिर्मित मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफ़ाश किया है।

इसे भी पढ़ें :- नक्सलियों की अब खैर नहीं ! सैटेलाइट ट्रैकर का होगा इस्तेमाल, बड़े ऑपरेशन की तैयारी

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बंगाल की कोलकाता स्पेशल टास्क फोर्स और दुमका मुफस्सिल थाने की संयुक्त कार्रवाई में 7 एमएम की 25 पिस्टल के अलावा भारी मात्रा में अर्द्ध-तैयार हथियार के साथ बंदूक बनाने वाली मशीन बरामद की गई है। पुलिस लगातार जांच कर रही है। गन फैक्ट्री में काम करने वाले कई लोगों को पुलिस ने पकड़ा है।

जानकारी के मुताबिक कोलकाता टास्क फोर्स ने एक व्यक्ति राजेंद्र प्रसाद उर्फ ​​मकबूल हुसैन को पिस्तौल के साथ कोलकाता में गिरफ्तार किया था। जिससे पूछताछ में यह बात सामने आई। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंच गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोलकाता पुलिस ने मिनी गन फैक्ट्री में काम करने वाले पांच लोगों और एक महिला को गिरफ्तार किया है। पुलिस उनसे इस गिरोह में शामिल अन्य अपराधियों और इसके सरगना के बारे में जानकारी जुटा रही है। उक्त मकान में पिस्टल निर्माण के लिए आधा दर्जन मशीनें भी लगाई गई हैं। पिस्तौल बनाने के लिए बड़ी मात्रा में लोहे की छड़ें भी बरामद की गई हैं, जिनसे हजारों पिस्तौलें बनाई जा सकती थीं।

इसे भी पढ़ें :- रांची से बालूमाथ कन्या मध्य विद्यालय पहुंची भाजपा की टीम, छात्रों से मारपीट के मामले की जांच

पश्चिम बंगाल की स्पेशल टास्क फोर्स की छापेमारी में भारी मात्रा में अर्धनिर्मित देसी पिस्तौल के साथ बंदूक बनाने वाली मशीन बरामद हुई है। फैक्ट्री में काम करने वाले छह मजदूरों को भी हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया है।

बताया जा रहा है कि सभी मजदूर बिहार के मुंगेर जिले के रहने वाले हैं। गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस मुख्य गैंगस्टर की तलाश कर रही है। पुलिस कुछ दिन पहले यहां घर बनाकर कारोबार शुरू करने वाले रवि कुमार नाम के शख्स की तलाश कर रही है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

दुमका में मिनी गैन फैक्ट्री