Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

दुमका में अवैध मिनी गन फैक्ट्री का खुलासा, एक महिला समेत छह गिरफ्तार, सरगना की तलाश, बिहार से जुड़ा है तार

'

दुमका में मिनी गैन फैक्ट्री

दुमका : आसनसोल लोकसभा उपचुनाव और बीरभूम हत्याकांड के बाद राज्य पुलिस ने हथियारों के खिलाफ अभियान छेड़ दिया है। इस अभियान के तहत कोलकाता एसटीएफ ने पश्चिम बंगाल से सटे झारखंड के दुमका जिले में मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है।

स्थानीय पुलिस की मदद से एक अर्ध-निर्मित हथियार के साथ एक बंदूक बनाने वाली मशीन भी बरामद की गई है। मौके से एक महिला समेत छह आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इस कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंच गई है।

बता दें कि पश्चिम बंगाल के अलग-अलग जिलों से लगातार हथियार बरामद किए जा रहे हैं और इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार भी किया जा चुका है।

कोलकाता की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की टीम ने झारखंड के दुमका के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के सरुवा गांव में स्थानीय पुलिस की मदद से दो मंजिला मकान से एक अर्धनिर्मित मिनी गन फैक्ट्री का पर्दाफ़ाश किया है।

इसे भी पढ़ें :- नक्सलियों की अब खैर नहीं ! सैटेलाइट ट्रैकर का होगा इस्तेमाल, बड़े ऑपरेशन की तैयारी

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बंगाल की कोलकाता स्पेशल टास्क फोर्स और दुमका मुफस्सिल थाने की संयुक्त कार्रवाई में 7 एमएम की 25 पिस्टल के अलावा भारी मात्रा में अर्द्ध-तैयार हथियार के साथ बंदूक बनाने वाली मशीन बरामद की गई है। पुलिस लगातार जांच कर रही है। गन फैक्ट्री में काम करने वाले कई लोगों को पुलिस ने पकड़ा है।

जानकारी के मुताबिक कोलकाता टास्क फोर्स ने एक व्यक्ति राजेंद्र प्रसाद उर्फ ​​मकबूल हुसैन को पिस्तौल के साथ कोलकाता में गिरफ्तार किया था। जिससे पूछताछ में यह बात सामने आई। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। कार्रवाई के लिए कोलकाता एसटीएफ की 15 सदस्यीय टीम दुमका पहुंच गई है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोलकाता पुलिस ने मिनी गन फैक्ट्री में काम करने वाले पांच लोगों और एक महिला को गिरफ्तार किया है। पुलिस उनसे इस गिरोह में शामिल अन्य अपराधियों और इसके सरगना के बारे में जानकारी जुटा रही है। उक्त मकान में पिस्टल निर्माण के लिए आधा दर्जन मशीनें भी लगाई गई हैं। पिस्तौल बनाने के लिए बड़ी मात्रा में लोहे की छड़ें भी बरामद की गई हैं, जिनसे हजारों पिस्तौलें बनाई जा सकती थीं।

इसे भी पढ़ें :- रांची से बालूमाथ कन्या मध्य विद्यालय पहुंची भाजपा की टीम, छात्रों से मारपीट के मामले की जांच

पश्चिम बंगाल की स्पेशल टास्क फोर्स की छापेमारी में भारी मात्रा में अर्धनिर्मित देसी पिस्तौल के साथ बंदूक बनाने वाली मशीन बरामद हुई है। फैक्ट्री में काम करने वाले छह मजदूरों को भी हथियारों के साथ गिरफ्तार किया गया है।

बताया जा रहा है कि सभी मजदूर बिहार के मुंगेर जिले के रहने वाले हैं। गिरफ्तार लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस मुख्य गैंगस्टर की तलाश कर रही है। पुलिस कुछ दिन पहले यहां घर बनाकर कारोबार शुरू करने वाले रवि कुमार नाम के शख्स की तलाश कर रही है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

दुमका में मिनी गैन फैक्ट्री