Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

पूर्व कप्तान एमएस धोनी फिर बने झारखंड के सबसे बड़े टैक्सपेयर

पूर्व कप्तान एमएस धोनी एक बार फिर झारखंड के सबसे बड़े टैक्सपेयर बन गए हैं। उन्होंने इस साल उन्होंने 38 करोड़ रुपये एडवांस टैक्स के तौर पर चुकाए हैं। कोरोना के आर्थिक दुष्परिणामों के बावजूद उनकी आय में वृद्धि हुई है।

रांची: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने इस साल 38 करोड़ रुपये एडवांस टैक्स के रूप में चुकाए हैं। दिए गए टैक्स के अनुसार इस वित्तीय वर्ष के दौरान उनकी कर योग्य आय 130 करोड़ रुपये से थोड़ी अधिक होने का अनुमान है। कोरोना के आर्थिक दुष्परिणामों के बावजूद उनकी आय में इजाफा हुआ है। वह इस साल भी झारखंड के सबसे बड़े व्यक्तिगत करदाता बन गए हैं। क्रिकेट की दुनिया में अपने प्रवेश के बाद से, वह लगातार झारखंड के व्यक्तिगत सबसे बड़े करदाता रहे हैं।

वित्त वर्ष 2020-21 में कोरोना के कारण कम हुई थी आय

वित्त वर्ष 2020-21 में कोविड-19 की पहली लहर के दौरान व्यावसायिक गतिविधियों के साथ-साथ खेलों पर लंबे समय तक रोक लगा दी गई थी. इससे पहले कप्तान की आय पर भी असर पड़ा था। कोविड-19 के चलते आईपीएल भी समय पर नहीं हो पाया। खेल के आयोजन की अनुमति मिलने के बाद आईपीएल शुरू हुआ। हालांकि बीच में ही मैच को दुबई शिफ्ट कर दिया गया।

वित्तीय वर्ष 2021-22 में भी कोविड-19 की दूसरी लहर में लॉकडाउन था, लेकिन पहली लहर की तुलना में इसका असर काफी कम था। इस वजह से दूसरी लहर में लॉकडाउन में छूट का समय पहली लहर की तुलना में अधिक रही। उस वित्त वर्ष में आईपीएल का आयोजन किया गया था। आईपीएल के कारण पूर्व क्रिकेटर ने अपनी आय में 30% की वृद्धि की।

इस साल 38 करोड़ एडवांस टैक्स चुकाया

पूर्व कप्तान ने वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 38 करोड़ रुपये का अग्रिम कर जमा किया है। चालू वित्त वर्ष में उन्होंने अप्रैल 2021 से नवंबर 2021 तक की अवधि के लिए 13 करोड़ रुपये अग्रिम कर के रूप में जमा किए थे। इसके बाद उन्होंने 25 करोड़ रुपये अग्रिम कर के रूप में जमा किए।

पिछले वर्ष की तुलना में 8 करोड़ ज्यादा चुकाया टैक्स

यानी अप्रैल 2021 से मार्च 2022 की अवधि के लिए उन्होंने कुल 38 करोड़ रुपये एडवांस टैक्स के तौर पर जमा किए। चालू वित्त वर्ष में पूर्व कप्तान द्वारा अग्रिम कर के रूप में जमा की गई राशि के आलोक में इस वित्तीय वर्ष में उनकी कर योग्य आय 130 करोड़ रुपये से थोड़ी अधिक होने का अनुमान लगाया जा रहा है। पिछले वित्त वर्ष (2020-21) में उन्होंने कुल 30 करोड़ रुपये का एडवांस टैक्स जमा किया था। इस तरह उन्होंने चालू वित्त वर्ष के दौरान पिछले वित्त वर्ष की तुलना में आठ करोड़ रुपये अधिक अग्रिम कर का भुगतान किया है।

एमएस धोनी झारखंड टैक्सपेयर