Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

झारखंड पहुंचे किसान नेता राकेश टिकैत, नेतरहाट फील्ड फायरिंग कार्यक्रम में लेंगे हिस्सा

'

Rakesh Tikait Netarhat Jharkhand

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : किसान आंदोलन के नेता राकेश टिकैत और उनके सचिव नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज के खिलाफ जन संघर्ष समिति लातेहार, गुमला के 25 साल लंबे आंदोलन की बरसी में शामिल होने आज रांची पहुंचे।

वीर बिरसा मुंडा हवाई अड्डे पर जन संघर्ष समिति के केंद्रीय सचिव लातेहार गुमला, जेरोम जेराल्ड कुजूर और आदिवासी सलाहकार परिषद टीएसी के पूर्व सदस्य रतन तिर्की ने गुलदस्ता देकर उनका स्वागत किया।

हवाई अड्डे से राकेश टिकैत कामिल बुल्के पथ स्थित सामाजिक विकास केंद्र एसडीसी गए जहां जन संघर्ष समिति की महिलाओं ने आदिवासी परंपरा के अनुसार हाथ धोकर उनका स्वागत किया।

आपको बता दें कि किसान नेता राकेश टिकैत कल लातेहार नेतरहाट टुटुआपानी जोकीपोखर जाएंगे। जहां नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज के खिलाफ 25 साल से चल रहे आंदोलन की बरसी पर जुटे हजारों आदिवासियों और मूल निवासियों को संबोधित करेंगे।

एयरपोर्ट से रिसीव करते हुए कार में उनसे बात करते हुए उन्होंने कहा कि झारखंड उनका पहला दौरा है और यहां का मौसम भी अच्छा है। श्री टिकैत ने कहा कि झारखंड में खनिज होने के बावजूद यहां के आदिवासी गरीब कैसे हैं?

उन्होंने कहा कि किसानों के हितों की रक्षा सबसे अहम मुद्दा है। इसके बाद नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज के खिलाफ आंदोलनकारियों के सचिव जेरोम जेराल्ड कुजूर ने श्री टिकैत को आंदोलन की पृष्ठभूमि और इतिहास से अवगत कराया।

एसडीसी में आयोजित एक छोटी सी बैठक में श्री टिकैत खान ने खनिजों के विस्थापन पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि झारखंड में पिछड़े दलितों के किसानों के अधिकारों और संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करना केंद्र और राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है।

कल श्री टिकैत लातेहार के नेतरहाट टूटुआपानी आंदोलनकारियों द्वारा 22/23 मार्च को लोहरदगा घाघरा होते हुए सड़क मार्ग से दो दिवसीय कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। रात्रि विश्राम नेतरहाट में ही करेंगे।

Rakesh Tikait Netarhat Jharkhand


Leave a Reply

Your email address will not be published.