Breaking :
||ED की रिमांड अवधि के दौरान मंत्री आलमगीर आलम का बीपी और शुगर लेवल हाई, स्ट्रेस भी बढ़ा||पलामू: पत्नी के सामने फंदे से झूल गया पति, लगातार झगड़ों से था परेशान||ED ने अब झारखंड सरकार के दो और मंत्रियों को पूछताछ के लिए बुलाया, सियासी गलियारों में हलचल||पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया माओवादी एरिया कमांडर बुधराम मुंडा||लोहरदगा में निर्माणाधीन कुआं धंसने से चार मजदूरों की दबकर मौत||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक
Thursday, May 23, 2024
झारखंड

UP से आ रहे हथियारों की खेप के साथ एटीएस की टीम ने चार तस्करों को पकड़ा, 35 पिस्टल बरामद

रांची: झारखंड पुलिस के आतंकवाद निरोधी दस्ते ने एक महत्वपूर्ण सफलता हासिल करते हुए अपराधियों के एक बड़े हथियार नेटवर्क को नष्ट कर दिया है। झारखंड के अपराधियों के लिए लेकर जा रही हथियारों की बड़ी खेप एटीएस की टीम ने पकड़ी है।

एटीएस की टीम ने बिहार के गया में कार्रवाई करते हुए चार अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में रंजन कुमार, चंदन कुमार, दानिश इकबाल और तौहीद शामिल हैं। इन अपराधियों के पास से 35 देशी पिस्टल, पांच मोबाइल और 88700 रुपये बरामद किए गए हैं। इन अपराधियों के खिलाफ गया के आमस थाने, धनबाद जिले के मैथन थाने, हजारीबाग के चौपारण थाने और चतरा जिले के गिद्दौर थाने में मामले दर्ज हैं।

एटीएस की टीम को सूचना मिली थी कि झारखंड में सक्रिय बड़े आपराधिक गिरोहों के लिए हथियारों की बड़ी खेप आने वाली है। जानकारी यह भी थी कि खेप उत्तर प्रदेश के मेरठ से आ रही है। मामले की जानकारी मिलने के बाद एटीएस की टीम हथियार तस्करों की टोह लेने में लगी थी।

गुप्त सूचना के आधार पर एटीएस की टीम ने हथियार तस्करों को पकड़ लिया। एटीएस से पूछताछ में हथियार तस्करों ने बताया है कि इन हथियारों का ऑर्डर झारखंड के अलग-अलग गैंग ने दिया था।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *